वायुमंडल हस्तलिखित नोट्स पीडीएफ | Vayumandal Notes Hindi PDF

Atmosphere Notes PDF, Vayumandal Notes In Hindi PdF, REET Notes PDF, Geography Notes In hindi pdf, Vayumandal Notes Hindi PDF

वायुमण्डल :- 

◆ किसी भी ग्रह के चारों ओर गैसों का आवरण वायुमंडल कहलाता है।
◆ पृथ्वी का वायुमंडल 10000 किलोमीटर तक विस्तृत है

वायुमंडल के कार्य :-

1.  वायुमंडल में गैस पाई जाती है जो जीवन के लिए आवश्यक है
2.  वायुमंडल में जलवाष्प पाया जाता है 0 से 4% जिससे आवश्यक वर्षा मिलती है
3.  वायुमंडल में हरित गृह गैसे पाई जाती है जो पृथ्वी का औसत तापमान बनाए रखती है
● हरित गृह गैसें वे गैसें होती है जो परावर्तित सौर विकिरण को अवशोषित करती है जिससे पृथ्वी के औसत तापमान में वृद्धि होती है पृथ्वी के औसत तापमान में होने वाली वृद्धि को भूमंडलीय तापीकरण (ग्लोबल वार्मिंग) कहते हैं
● हरित गृह गैसें –
1.  कार्बन डाइऑक्साइड।        2. मिथेन
3.  जलवाष्प                    4. सीएफसी क्लोरोफ्लोरोकार्बन
5. ओजोन
पृथ्वी का औसत तापमान 15 डिग्री सेल्सियस है 
4. वायुमंडल में ओजोन गैस पाई जाती है जो हमें पराबैंगनी किरणों से बचाती है
5.  वायुमंडल हमें गिरते हुए उल्कापिंड से बचाता है।
6.  वायुमंडल रेडियो तरंगों को परिवर्तित करता है जो दूरसंचार में सहायक होती है

वायुमंडल का संघटन :- 

  1. नाइट्रोजन – 78.08 %
  2. ऑक्सीजन – 20.94 %
  3. ऑर्गन गैस – 0.93 %
  4. कार्बन डाइऑक्साइड – 0.04 %
  5. अन्य गैसें – 0.04 %
  • अन्य गैसें – हाइड्रोजन, हीलियम, मीथेन, ओजोन, क्रिप्टोन, जिनोन, नियॉन, रेडॉन आदि।

1. नाइट्रोजन :-
पेड़ पौधों के लिए प्रोटीन का सबसे बड़ा स्रोत है
● नाइट्रोजन आग को तेजी से फैलने से रोकती है
● नाइट्रोजन वायुमंडलीय दाब का प्रमुख घटक है
● नाइट्रोजन रंगहीन, गन्धहीन तथा स्वादहीन गैस है
● नाइट्रोजन गैस के घुएं का इस्तेमाल रंगमंच में किया जाता है

2. ऑक्सीजन :-
● ऑक्सीजन जीवनदायिनी गैस कहलाती है
● ऑक्सीजन आग लगाने में सहायता करती है
● ऑक्सीजन गैस का प्रयोग भोजन के ऑक्सीकरण में किया जाता है।

3. ऑर्गन गैस :-
● वायुमंडल में तीसरे स्थान पर सर्वाधिक मात्रा में पाई जाने वाली गैस है
● ऑर्गन गैस का इस्तेमाल विद्युत उपकरणों जैसे बल्ब, ट्यूबलाइट आदि में किया जाता है

4. कार्बन डाइऑक्साइड :-
● यह गैस भारी होने के कारण वायुमंडल में निचली परत में पाई जाती है
पेड़ पौधों की श्वशन क्रिया में काम आती है
● कार्बन डाइऑक्साइड गैस हरित ग्रह प्रभाव के लिए सबसे अधिक जिम्मेदार गैस है
● अग्निशमको में कार्बन डाइऑक्साइड गैस का प्रयोग किया जाता है

5. हाइड्रोजन गैस :-
● वायुमंडल की सबसे हल्की गैस है
● ब्रह्मांड में सर्वाधिक मात्रा में पाई जाने वाली गैस
● हाइड्रोजन गैस जलने पर अत्यधिक ऊर्जा देती है इसलिए इसे भविष्य का इंधन भी कहा जाता है

6. हीलियम गैस :-
● वायुमंडल की दूसरी सबसे हल्की गैस है
● ब्रह्मांड में दूसरे स्थान पर सबसे अधिक मात्रा में पाई जाने वाली गैस है
● अक्रिय गैसों में सबसे हल्की गैस है इसलिए इसका उपयोग हवाई जहाज के टायरों में तथा पर्यटक गुब्बारों में किया जाता है

7. ओजोन गैस :-
● ओजोन गैस समताप मंडल में 15 किलोमीटर से 35 किलोमीटर की ऊंचाई पर सबसे अधिक मात्रा में पाई जाती है इसलिए समताप मंडल को ओजोन मंडल भी कहते हैं
● ओजोन परत कि मोटाई डॉबसन इकाई में मापी जाती है
● ओजोन गैस पराबैंगनी किरणों को अवशोषित करती है
सीएफसी क्लोरोफ्लोरोकार्बन गैस ओजोन गैस को सबसे अधिक नुकसान पहुंचाती है
16 सितंबर 1992 को रियो डी जेनेरियो (ब्राज़ील) में ओजोन क्षरण को रोकने के लिए अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन किया गया
● इसलिए 16 सितंबर ओजोन दिवस के रूप में मनाया जाता है

8. मिथेन गैस :-
● मीथेन गैस को मार्श गैस / गोबर गैस / बायो गैस / हरित गृह गैस / धान के खेतों की गैस भी कहा जाता है

9. रेडॉन गैस :-
● वायुमंडल की सबसे भारी गैस है।
रेडॉन गैस मृदा में पाई जाती है।
● अचानक वायुमंडल में रेडॉन गैस की अधिकता भूकंप के आने का संकेत देती है।

वायुमंडल की परतें :-

  1. क्षोभ मंडल
  2. समताप मंडल
  3. मध्य मंडल
  4. आयन मंडल
  5. बर्हिमंडल

1. क्षोभमंडल :- 
● यह वायुमंडल की सबसे निचली परत है
● इसकी ऊंचाई भूमध्य रेखा पर 18 किलोमीटर तथा ध्रुवों पर 8 किलोमीटर तक होती है
● गैसों का 90% आयतन वायुमंडल में 32 किलोमीटर की ऊंचाई तक पाया जाता है
● तापमान की सामान्य ह्रास दर क्षोभमंडल में कार्य करती है
गैसों का सर्वाधिक मिश्रण क्षोभ मंडल में पाया जाता है
● सभी मौसमी घटनाएं क्षोभ मंडल में ही होती है
● क्षोभमंडल की ऊपरी सीमा क्षोभ सीमा पर जेट धाराएं पाई जाती है

2. समताप मंडल :-
●  ऊंचाई – 50 किलोमीटर तक
● तापमान की सामान्य ह्रास दर कार्य नहीं करती है
● ओजोन गैस की अधिकता के कारण तापमान बढ़ने लगता है
● ओजोन गैस पराबैंगनी किरणों को अवशोषित करती है
● इस मंडल में कोई मौसमी घटना नहीं पाई जाती है इसलिए यह वायुयानों के लिए सबसे अनुकूल होती है

3. मध्य मंडल :- 
● ऊंचाई – 80 किलोमीटर तक
● मध्य मंडल में गैसों का घनत्व कम होने के कारण तापमान घटकर -100 डिग्री सेल्सियस हो जाता है
● यह वायुमंडल की सबसे ठंडी परत कहलाती है
उल्का पिंड की घटना मध्य मंडल में होती है

4. आयन मंडल :- 
● ऊंचाई – 40 किलोमीटर तक
● गैसों के आयनों की अधिकता के कारण इसे आयनमंडल कहते हैं
● इस मंडल में तापमान 1000 से 1400 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाता है इसलिए इसे ताप मंडल भी कहा जाता है
अरोरा की घटना आयनमंडल में ही दिखाई देती है
रेडियो तरंगे आयनमंडल से ही परावर्तित होती है
दूर संवेदी उपग्रह आयनमंडल में स्थापित किए जाते हैं

5. बर्हि मंडल :-
● ऊंचाई – 1000 किलोमीटर तक
● वायुमंडल की सबसे ऊपरी परत है
● यह अंतरिक्ष के साथ जुड़ी होती है
● इसमें कृत्रिम उपग्रह स्थापित किए जाते हैं

Download Notes PDFClick Here (Vayumandal Notes Hindi PDF)

Download All Subject Notes & Question PDF

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Scroll to Top