राजस्थान की नहरें Rajasthan ki Pramukh Nahar

राजस्थान की प्रमुख नहरें Rajasthan ki Pramukh Nahar , राजस्थान की नहर परियोजनाएं, (Rajasthan Ki Nahar Pariyojana) राजस्थान की नहर सिंचाई परियोजना, Rajasthan Ki Nahar Pariyojana,

राजस्थान की प्रमुख नहरें (Rajasthan ki Pramukh Nahar) :-

◆ गंग नहर

गंग नहर भारत की पहली नहर परियोजना

● शिलान्यास – 5 दिसम्बर 1922

● शुभारंभ – 26 अक्टूबर 1927 (गंगा सिंह के शासन काल मे)

● उदगम स्थल – सतलज नदी (हुसैनीवाला)

● समाप्ति स्थल – शिवपुरी हैड (गंगानगर)

● कुल लम्बाई – 129 किलोमीटर

● राजस्थान में लम्बाई – 17 किलोमीटर

● लाभान्वित जिला – गंगानगर

● शाखायें – 4 (सामीजा, लालगढ़, करणी, लक्ष्मीनारायण)

वर्तमान में श्रीगंगानगर जिले में सर्वाधिक सिंचाई गंग नहर से होती है।

यह राजस्थान की प्रथम वृहद् सिंचाई परियोजना है। (Rajasthan ki Pramukh Nahar)

◆ नर्मदा नहर

● राजस्थान की पहली फव्वारा पद्धति / बून्द-बून्द सिंचाई पद्धति / टपकन पद्धति / ड्रिपल पद्धति / शुष्क कृषि पद्धति / इजरायली पद्धति पर आधारित परियोजना

● उदगम स्थल – सरदार सरोवर परियोजना (गुजरात)

● राजस्थान में प्रवेश – सीलू ग्राम जालौर

● समाप्ति स्थल – गुढ़ा मालानी (बाड़मेर)

● कुल लंबाई – 532 किलोमीटर

● राजस्थान में लम्बाई – 74 किलोमीटर

● लाभान्वित क्षेत्र – गुढ़ा मालानी (बाड़मेर), सांचौर (जालौर)

● लिफ्ट नहर – 03

(i) पानरिया लिफ्ट नहर – बाड़मेर

(ii) भादरिया लिफ्ट नहर – बाड़मेर

(iii) सांचौर लिफ्ट नहर – जालौर

◆ सिद्धमुख नोहर परियोजना

● नदियां – सतलज, व्यास

● हनुमानगढ़ – नोहर तहसील एवं भादरा तहसील

● चुरू – राजगढ़ तहसील

● इराडी कमीशन की सिफारिश पर यूरोपियन संघ के वितीय सहयोग से निर्मित परियोजना

● शिलान्यास – 1989

● शुभारम्भ – 2012

● वर्तमान नाम – राजीव गांधी सिद्धमुख नोहर परियोजना

गुड़गांव नहर (यमुना लिंक नहर) – यमुना नदी – कामां तहसील (भरतपुर)

भरतपुर नहर – यमुना नदी – भरतपुर

चम्बल नहर – चम्बल नदी – बूंदी

◆ इंदिरा गांधी नहर

● अन्य नाम – मरु गंगा

● इंदिरा गांधी नहर की योजना सन 1948 में श्री कंवर सेन ने “बीकानेर के लिए पानी की आवश्यकता” पत्र में बनाई।

● इंदिरा गांधी नहर का निर्माण विश्व बैंक के वितीय सहयोग से किया गया।

● शिलान्यास – 31 मार्च 1958 (गोविन्द वल्लभ पन्त)

● शुभारम्भ – 11 अक्टूबर 1961 (सर्वपल्ली राधाकृष्णन)

● नामकरण – 2 नवम्बर 1984 (राजस्थान नहर को इंदिरा गांधी नहर नाम दिया गया)

◆ इंदिरा गांधी नहर का निर्माण तीन चरणों मे किया जा रहा है –

1. प्रथम चरण – हरिके बैराज से पूंगल (बीकानेर) – 393 KM – राजस्थान फीडर (204 KM) + राजस्थान नहर (189 KM)

2. द्वितीय चरण – पूंगल (बीकानेर) से मोहनगढ़ (जैसल■ राजस्थान फीडर -मेर) तक 256 KM – राजस्थान नहर (256KM)

3. तृतीय चरण – मोहनगढ़ (जैसलमेर) से गडरा रोड़ (बाड़मेर) तक 90 KM – बाबा रामदेव उपशाखा (90 KM)

■ राजस्थान फीडर –

● उदगम स्थल – सतलज व्यास नदी (हरिके बैराज, पंजाब)

● राजस्थान में प्रवेश – मासीतावाली हैड (हनुमानगढ़)

● समाप्ति स्थल – मासीतावाली हैड (हनुमानगढ़)

● कुल लम्बाई – 204 किलोमीटर

● राजस्थान में लम्बाई – 34 किलोमीटर

राजस्थान नहर :-

● उदगम स्थल – मासीतावाली हैड (हनुमानगढ़)

● समाप्ति स्थल – मोहनगढ़ (जैसलमेर)

● कुल लम्बाई / राजस्थान में लम्बाई – 445 KM

● लाभान्वित जिले – 04 (हनुमानगढ़, गंगानगर, बीकानेर, जैसलमेर)

● सर्वाधिक लाभान्वित जिला – बीकानेर

◆ शाखाएं – 09

1. रावतसर शाखा – हनुमानगढ़ (बांयी ओर निकलने वाली एकमात्र शाखा)

2. अनूपगढ़ शाखा – गंगानगर

3. सूरतगढ़ शाखा – गंगानगर

4. पूंगल शाखा – बीकानेर

5. दातोर शाखा – बीकानेर

6. बिरसलपुर शाखा – बीकानेर

7. चारणावाला शाखा – बीकानेर-जैसलमेर

8. शहीद बीरबल शाखा – जैसलमेर

9. सागरमल गोपा शाखा – जैसलमेर (Rajasthan ki Pramukh Nahar)

◆ इंदिरा गांधी नहर (Indira Gandhi Nahar) –

● उदगम स्थल – सतलज व्यास नदी (हरिके बैराज – पंजाब)

● राजस्थान में प्रवेश – मासीतावाली हैड (हनुमानगढ़)

● समाप्ति स्थल (जीरो पॉइंट) – गडरा रोड़ (बाड़मेर)

● कुल लम्बाई – 204 + 445 + 90 = 739 KM (गडरा रोड़ तक)

● राजस्थान में लम्बाई – 34 + 445 + 90 = 596 KM

● वर्तमान में लम्बाई (मोहनगढ़ तक) – 204 + 445 = 649 KM

● राजस्थान में वर्तमान में लम्बाई – 34 + 445 = 479 KM

● लाभान्वित जिले – 08 (हनुमानगढ़, चुरू, झुंझुनूं, गंगानगर, बीकानेर, नागौर, जैसलमेर, जोधपुर)

● सर्वाधिक लाभान्वित जिला – बीकानेर

● लिफ्ट नहरें – 07

(i) चौधरी कुम्भा राम लिफ्ट नहर – हनुमानगढ़, चुरू, झुंझुनूं, बीकानेर

● पुराना नाम – गन्धेली साहवा लिफ्ट नहर

● इस लिफ्ट नहर पर पेयजल सुविधा हेतु जर्मनी के सहयोग से आपणी योजना संचालित की जा रही है।

(ii) श्री कँवरसेन लिफ्ट नहर – बीकानेर, गंगानगर

● इंदिरा गांधी नहर की सबसे लंबी लिफ्ट नहर जिसे बीकानेर की जीवन रेखा कहा जाता है।

(iii) पन्नालाल – बारूपाल लिफ्ट नहर – बीकानेर, नागौर

(iv) वीर तेजाजी लिफ्ट नहर – बीकानेर (सबसे छोटी लिफ्ट नहर)

(v) डॉ. कर्ण सिंह लिफ्ट नहर – बीकानेर, जोधपुर

(vi) गुरु जम्भेश्वर लिफ्ट नहर – बीकानेर, जैसलमेर, जोधपुर

(vii) जयनारायण व्यास लिफ्ट नहर – जैसलमेर, जोधपुर

Rajasthan ki Pramukh Nahar

महत्वपूर्ण तथ्य

1. नर्मदा नहर

 

उदगम – सरदार सरोवर परियोजना (गुजरात)
राजस्थान में प्रवेश – सीलु ग्राम (जालौर)
समाप्ति स्थल – गुढ़ामालानी क्षेत्र (बाड़मेर)

2. गंग नहर

 

उदगम – सतलज नदी (हुसैनीवाला)
समाप्ति स्थल – शिवपुरी हैड (गंगानगर)
इसे श्रीगंगानगर की जीवनदायिनी के नाम से जाना जाता है।

3. गुड गाँव नहर / पश्चिमी यमुना लिंक नहर

 

उदगम – यमुना नदी (दिल्ली)
राजस्थान में प्रवेश – जुरैरा गांव (कामां, भरतपुर)

4. भरतपुर नहर

 

उदगम – आगरा नहर (उत्तरप्रदेश)
इसकी कुल लम्बाई 28 किमी हैं। (उत्तरप्रदेश में 16 किमी व राजस्थान में 12 किमी)

5. सिद्धमुख नहर परियोजना

 

नदियां – सतलज – व्यास
इराड़ी कमीशन की सिफारिश पर यूरोपीयन संंघ के वितिय सहयोग से निर्मित।

भरतपुर नहर – यमुना नदी – भरतपुर

चम्बल नहर – चम्बल नदी – बून्दी

Download Notes PDF File

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Scroll to Top