राजस्थान के प्रमुख महल | Rajasthan ke Mahal

Join WhatsApp GroupJoin Now
Join Telegram GroupJoin Now

Rajasthan ke Mahal, Rajasthan Ke Parmukh Mahal Notes PDF, Rajasthan Culture Notes PDF, राजस्थान के प्रमुख महल नोट्स

राजस्थान के प्रमुख महल | Rajasthan ke Mahal

★ उम्मेद भवन पैलेस :-

● स्थान – जोधपुर

● निर्माण – 1928 ई. महाराजा उम्मेद सिंह

● अकाल राहत कार्यों में बनने वाली राजस्थान की प्रथम इमारत

● छितर पहाड़ी पर स्थित

● छितर पत्थरों से निर्मित

● छितर पैलेस महल भी कहा जाता है

● घड़ियों का संग्रहालय स्थित है

● विश्व का सबसे बड़ा रियासती महल

★ अजीत भवन पैलेस :-

● स्थान – जोधपुर

● निर्माण – महाराजा हनुवंत सिंह के प्रधानमंत्री अजित सिंह ने करवाया

● भारत की प्रथम हेरिटेज होटल

★ राइका बाग पैलेस :-

● स्थान – जोधपुर

● निर्माण – हाडी रानी जसवंतदे ने

● 1883 ई. में महर्षि दयानंद सरस्वती ने इसी महल में उपदेश दिए थे

★ चंद्रमहल / सिटी पैलेस :-

● स्थान – उदयपुर

● निर्माण – महाराणा उदयसिंह ने 1559 में

● फर्ग्युसन ने इसे विंडसर महलों की संज्ञा दी है।

● प्रमुख महल :- कृष्णा कुमारी महल (सबसे बड़ा महल), दिलसुख महल, माणक महलज़ नवचौकी महल (इसमें राजतिलक होता था), (Rajasthan ke Mahal)

★ चंद्रमहल / सिटी पैलेस :-

● स्थान – जयपुर

● निर्माण – सवाई जयसिंह

● इस महल में सात महल है अर्थात सात मंजिला है –

(i) सुख मंदिर

(ii) दीवान-ए-आम

(iii) दीवान-ए-खास

(iv) मुबारक महल

(v) पोथीखाना संग्रहालय

● वास्तुकार – याकूब

★ मुबारक महल :-

● स्थान – जयपुर

● चंद्रमहल में स्थित है।

● निर्माण – सवाई माधोसिंह द्वितीय ने

● यह महल 3 शैलियों में निर्मित है – हिंदू शैली, फारसी शैली, यूनानी शैली

● इसका निर्माण अतिथियों को ठहराने के लिए किया गया था।

★ मुबारक महल :-

● स्थान – टोंक

● सुनहरी कोठी में स्थित

● निर्माण – वजीरुद्योला खां ने

● यह मुबारक महल बकरे ईद पर ऊंट की कुर्बानी के लिए प्रसिद्ध था

★ हवामहल :-

● स्थान – जयपुर

● निर्माण – सवाई प्रतापसिंह ने 1799 में

● वास्तुकार – लालचंद उस्ता

● खिड़कियां – 953

● जाली झरोखे – 365

● यह लाल पत्थरों से निर्मित है

● हवा महल अपनी विशालताओ के कारण यह हवामहल कहलाया तथा यह कृष्ण मुकुट आकृति में निर्मित है।

● हवामहल की सभी खिड़कियां पूर्व दिशा में खुलती है।

● हवामहल को लाल मंदिर भी कहा जाता है

★ रूठी रानी के प्रमुख महल :-

1. रूठी रानी का महल :-

● स्थान – तारागढ़ दुर्ग की तलहटी (अजमेर)

● यह राव मालदेव की रानी उमादे का महल है।

2. रूठी रानी का महल :-

● स्थान – मांडलगढ़, भीलवाड़ा

3. यशोदा देवकी पट्ट शिवालय / रूठी रानी का महल :-

● स्थान – भीलवाड़ा

● इस महल में पृथ्वीराज सिसोदिया (उड़ना राजकुमार) की पत्नी ताराबाई रूठ कर रही थी।

4. रूठी रानी का महल :-

● स्थान – उदयपुर

★ सज्जनगढ़ पैलेस / उदयपुर की मुकुटमणि / मानसून पैलेस / वाणी विलास महल :-

● स्थान – उदयपुर

● बांसदरा की पहाड़ी पर निर्मित है

● निर्माण – महाराणा सज्जन सिंह ने

● इसे सज्जनगढ़ दुर्ग भी कहा जाता है

★ बादल महल :-

1. बादल महल, जैसलमेर :-

● राजस्थान का सबसे बड़ा / ऊंचा बादल महल है।

● उपनाम – ताजिया टावर

● इस महल का निर्माण सिलावटों ने किया तथा महारावल बेरिसाल को भेंट कर दिया।

2. बादल महल, नागौर :-

● नागौर दुर्ग में स्थित है

● यह कलात्मक बादल महल कहलाता है।

3. बादल महल, बीकानेर :-

● जूनागढ़ दुर्ग में स्थित है

● यह बादल महल सोने की नक्कासी के लिए प्रसिद्ध है

4. बादल महल :-

● कुंभलगढ़ दुर्ग में स्थित है

● इसमें महाराणा प्रताप का जन्म हुआ (Rajasthan ke Mahal)

Download Rajasthan GK Notes / राजस्थान GK नोट्स पीडीएफ – Click Here

★ जगमंदिर पैलेस :-

● स्थान – उदयपुर

● निर्माण – कर्णसिंह ने 1622 में

● कर्णसिंह ने जहांगीर के विद्रोही पुत्र खुर्रम / शाहजहां को इन्ही महलों में शरण दी थी।

● यहां बाबा गफूर की मजार स्थित है।

★ अन्य महल :-

● जहांगीरी महल – पुष्कर (अजमेर)

● गोपाल महल – डीग (भरतपुर)

● कदमी महल – आमेर दुर्ग में (इसमें आमेर के शासकों का राजतिलक होता था)

● रेशमा महल – सीकर

● सिलीसेढ़ महल – अलवर

● जूना महल – डूंगरपुर

● लालगढ़ पैलेस – बीकानेर (महाराजा गंगा सिंह द्वारा अपने पिता लालसिंह की स्मृति में लाल पत्थरों से निर्मित)

● एक थम्बिया महल – डूंगरपुर

● मान महल – पुष्कर

● पंच महला महल – बैराठ (जयपुर)

● अकबरी महल – आमेर

● जल महल – मानसरोवर झील (जयपुर)

● महाराणा प्रताप के महल – चावण्ड (उदयपुर)

● मिरांगढ़ महल – कुड़की (पाली)

● एक थम्बा महल / प्रहरी मीनार – जोधपुर

● अबली मिणी का महल – कोटा

Rajasthan ke Mahal

Download Notes PDF – Click Here

1 thought on “राजस्थान के प्रमुख महल | Rajasthan ke Mahal”

Leave a Comment