शिक्षा मनोविज्ञान बुद्धि नोट्स | Psychology Intelligence Notes PDF

Psychology Intelligence Notes PDF, Psychology Notes in Hindi pdf, Psychology Notes PDF, Intelligence Notes pdf, Budhi Notes PDF, बुद्धि नोट्स pdf

Psychology Intelligence Notes PDF –

बुद्धि (Intelligence) शब्‍द का प्रयोग सामान्यतः प्रज्ञा, प्रतिभा, ज्ञान एवं समझ इत्यादि के अर्थों में किया जाता है। यह वह शक्ति है जो हमें समस्याओं का समाधान करने एवं उद्देश्यों को प्राप्त करने में सक्षम बनाती है।

बुद्धि की परिभाषाएं :-

★ टर्मन के अनुसार – “बुद्धि अमूर्त विचारों के सन्दर्भ में सोचने की योग्यता हैं।“
★ रॉस के अनुसार – “नवीन परिस्थितियों से चेतन अनुकूलन ही बुद्धि है।“
★ वुडवर्थ के अनुसार – “बुद्धि कार्य करने की एक विधि है।“
★ कॉलसेनिक के अनुसार – “बुद्धि विभिन्न योग्यताओं का योग है।“
★ हेनमॉन के अनुसार – बुद्धि में मुख्य तत्व होते हैं ज्ञान की क्षमता एवं निहित ज्ञान।
★ थॉनडाइक के अनुसार – सत्य या तथ्य के दृष्टिकोण से उत्तम प्रतिक्रियाओं की शक्ति ही बुद्धि है।

★ कॉलविन के अनुसार – यदि व्यक्ति ने अपने वातावरण से सामंजस्य करना सीख लिया है या सीख सकता है, तो उसमें बुद्धि है।

बुद्धि (Intelligence) की विशेषताएं :-

1.बुद्धि जन्मजात शक्ति है और वंशानुक्रम से प्राप्त होती है।
2. बुद्धि वंशानुक्रम व वातावरण से प्रभावित होती है।
3. बुद्धि का विकास जन्म से लेकर किशोरावस्था तक होता है।
4. बुद्धि समस्या समाधान की योग्यता है।
5. बुद्धि तर्क, चिन्तन, कल्पना तथा स्मरण करने की योग्यता है।
6. बुद्धि नवीन परिस्थितियों से सामंजस्य करने का गुण प्रदान करती है।

बुद्धि (Intelligence) के प्रकार :-

1.मूर्त बुद्धि :- इसे गामक या यांत्रिक बुद्धि भी कहा जाता है। इस बुद्धि का सम्बंध यंत्रों व मशीनों से होता है। जैसे – कारीगर, इंजीनियर, मिस्त्री आदि।
2. अमूर्त बुद्धि :- इस बुद्धि का सम्बंध पुस्तकीय ज्ञान से है। इस बुद्धि के बालक वकील, डॉक्टर, दार्शनिक, चित्रकार, साहित्यकार आदि बनते है।
3. सामाजिक बुद्धि :- इस बुद्धि वाले व्यक्ति मंत्री, व्यवसायी, सामाजिक कार्यकर्ता आदि होते है।

Psychology Intelligence Notes PDF & Questions – Click Here

बुद्धि के सिद्धान्त :-

1. एक तत्व सिद्धान्‍त :- एक-तत्व सिद्धान्त का प्रतिपादन बिने (Bine) ने किया और इस सिद्धान्त का समर्थन कर इसको आगे बढ़ाने का श्रेय टर्मन और स्टर्न जैसे मनोवैज्ञानिकों को है। इनके अनुसार बुद्धि एक अविभाज्य इकाई है। इन्होंने बुद्धि को एक शक्ति या कारक के रूप में माना है। (Psychology Intelligence Notes PDF)

2. द्वि-कारक सिद्धान्‍त :- इस सिद्धान्त के प्रतिपादक स्पीयरमैन (1904) हैं। उनके अनुसार बुद्धि में दो कारक हैं अथवा सभी प्रकार के मानसिक कार्यों में दो प्रकार की मानसिक योग्यताओं की आवश्यकता होती है। प्रथम सामान्य कारक, द्वितीय विशिष्ट कारक।
प्रत्येक व्यक्ति में सामान्य मानसिक योग्यता के अतिरिक्त कुछ-न-कुछ विशिष्ट योग्यताएँ पाई जाती हैं।

3. बहुकारक सिद्धान्त (Multi-Factor Theory) :- इस सिद्धान्त के प्रतिपादक थॉर्नडाइक थे। इस सिद्धान्त के अनुसार, बुद्धि कई तत्वों का समूह होती है और प्रत्येक तत्व में कोई सूक्ष्म योग्यता निहित होती है। मनुष्य में बुद्धि के उतने ही तत्व होते है जितने कार्यों को सम्पादित करता हैं।

4. त्रितत्व सिद्धान्त :-
इस सिद्धान्त के प्रतिपादक स्पियरमैन है। इस सिद्धान्त में स्पियरमैन ने बुद्धि के S और G तत्वों के साथ एक और ‘सामूहिक तत्व’ जोड़ दिया।

5. क्रमिक महत्व का सिद्धान्त :-
यह सिद्धान्त प्रत्येक मानसिक योग्यताओं को क्रमिक महत्व प्रदान करता है।

6. गिलफोर्ड का त्रि-आयाम सिद्धान्त :- गिलफोर्ड के अनुसार मानसिक योग्यता प्रमुख रूप से तीन तत्वों से निर्मित है। संक्रिया, विषयवस्तु तथा उत्पादन

7. समूह तत्व सिद्धान्त :- इस सिद्धान्त के प्रतिपादक थर्स्टन है। थर्स्टन ने बुद्धि की सात मानसिक योग्यताएं बताई है। इसके अनुसार इन सात मानसिक योग्यताओं का समूह ही बुद्धि है।
1. प्रेक्षण योग्यता
2. अंक योग्यता
3. शाब्दिक योग्यता
4. वाक योग्यता
5. स्मरण योग्यता
6. तार्किक योग्यता
7. पर्यवेक्षण शक्ति

8. हावर्ड गार्डनर का बहु बुद्धि सिद्धान्त :- यह सिद्धान्त पाठ्यक्रम निर्माण व निर्देश को नियोजित करने में मदद करता है। (Psychology Intelligence Notes PDF)

9. तरल ठोस बुद्धि सिद्धान्त – आर.बी. कैटेल
10. बहु मानसिक योग्यता का सिद्धान्त – कैली
11. आश्चर्यजनक बुद्धि का सिद्धान्त – ब्लूम

बुद्धि परीक्षण (Intelligence Test) :-

● सर्वप्रथम विलियम स्टर्न ने IQ शब्द का प्रयोग किया।
● बुद्धि मापन के लिए सर्वप्रथम अल्फ्रेड बीने ने 1905 में बिने-साइमन बुद्धि परीक्षण तैयार किया।
● भारत मे डॉ. सोहन लाल, डॉ. जालोटा, डॉ. सी.एम. भाटिया आदि ने विभिन्न बुद्धि परीक्षणों का निर्माण किया।
● टर्मन के अनुसार बुद्धि मापन का सिद्धान्त – मानसिक आयु /वास्तविक आयु X 100
● टर्मन के अनुसार बुद्धि लब्धि का वर्गीकरण :-

  1. 140 व ऊपर – प्रतिभाशाली
  2. 130 – 139 – कुशाग्र
  3. 120 – 129 – श्रेष्ठ
  4. 110 – 119 – औसत से अधिक
  5. 90 – 109 – औसत / सामान्य
  6. 80 – 89 – अल्प
  7. 70 – 79 – औसत से कम
  8. 50 – 69 – मूर्ख
  9. 25 – 49 – मूढ़
  10. 0 – 24 – जड़

★ बुद्धि परीक्षण के प्रकार :-

1. व्यक्तिगत बुद्धि परीक्षण – दो प्रकार

  1. शाब्दिक
  2. अशाब्दिक

2. सामुहिक बुद्धि परीक्षण – दो प्रकार

  1. शाब्दिक
  2. अशाब्दिक

1. बिने साइमन परीक्षण :-
प्रतिपादक – अल्फ्रेड बिने 1905
● इसमें 30 प्रश्न होते है वर्तमान में 59 प्रश्न है।

2. स्टैनफोर्ड बिने परीक्षण :-
प्रतिपादक – टर्मन, 1916 में इसमे 90 प्रश्न होते है।

3. आर्मी अल्फा परीक्षण :-
प्रतिपादक – आर्थर एस. ओटिस (1917) इसमे गणित, सामान्य ज्ञान, शब्दो सम्बन्धी परीक्षण होते है।

Psychology Intelligence Notes PDF

Download Psychology Intelligence Notes PDF – Click Here

Download Psychology Topic Wise Notes – Click Here

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Scroll to Top