Lata Mangeshkar Biography in Hindi लता मंगेशकर जीवन परिचय

Join WhatsApp GroupJoin Now
Join Telegram GroupJoin Now

Lata Mangeshkar Biography in Hindi

Lata Mangeshkar Biography in Hindi, Lata Mangeshkar Awards, Lata Mangeshkar Career, Lata Mangeshkar in Hindi, लता मंगेशकर जीवन परिचय: भारत रत्न लता मंगेशकर भारत की सबसे लोकप्रिय और आदरणीय गायिका हैं जिनका छ: दशकों का कार्यकाल उपलब्धियों से भरा है। जिनकी आवाज़ ने छह दशकों से भी ज़्यादा संगीत की दुनिया को सुरों से नवाज़ा है। भारत की ‘स्‍वर कोकिला’ लता मंगेशकर ने 20 भाषाओं में 30,000 गाने गाये है। उनकी आवाज़ सुनकर कभी किसी की आँखों में आँसू आए, तो कभी सीमा पर खड़े जवानों को सहारा मिला। लता जी आज भी अकेली हैं, उन्होंने स्वयं को पूर्णत: संगीत को समर्पित कर रखा है। लेकिन उनकी पहचान भारतीय सिनेमा में एक पार्श्वगायक के रूप में रही है। अपनी बहन आशा भोंसले के साथ लता जी का फ़िल्मी गायन में सबसे बड़ा योगदान रहा है।

Lata Mangeshkar Biography in Hindi, लता मंगेशकर जीवन परिचय

लता मंगेशकर जीवन परिचय

लता दीनानाथ मंगेशकर का जन्म 28 सितम्बर, 1929 इंदौर, मध्यप्रदेश में हुआ था। उनके पिता दीनानाथ मंगेशकर एक कुशल रंगमंचीय गायक थे। दीनानाथ जी ने लता को तब से संगीत सिखाना शुरू किया, जब वे पाँच साल की थी। उनके साथ उनकी बहनें आशा, ऊषा और मीना भी सीखा करतीं थीं। लता ‘अमान अली ख़ान साहिब’ और बाद में ‘अमानत ख़ान’ के साथ भी पढ़ीं। लता मंगेशकर हमेशा से ही ईश्वर के द्वारा दी गई सुरीली आवाज़, जानदार अभिव्यक्ति व बात को बहुत जल्द समझ लेने वाली अविश्वसनीय क्षमता का उदाहरण रहीं हैं। इन्हीं विशेषताओं के कारण उनकी इस प्रतिभा को बहुत जल्द ही पहचान मिल गई थी। लेकिन पाँच वर्ष की छोटी आयु में ही आपको पहली बार एक नाटक में अभिनय करने का अवसर मिला।

जन्म तिथि – 28 सितंबर, 1929।
मृत्यु – 06 फरवरी 2022
उम्र – 92 साल
बालों का रंग – काला।
फीट में ऊंचाई – 5 फीट 1 इंच
गृहनगर – इंदौर, भारत।
राष्ट्रीयता – भारतीय।
राशि – तुला।
जन्मस्थान – इन्दोर
पिता – दिनानाथ मंगेशकर
माता – शेवंती मंगेशकर
विवाह – अविवाहित

लता मंगेशकर शुरुआती समय

लता मंगेशकर जी को शुरुआती दौर में काफी सारी मुश्किलों का सामना करना पड़ा था। लता मंगेशकर जी ने अपना पहला आकाशवाणी कार्यक्रम 16 दिसंबर 1941 को प्रस्तुत किया जिसे सुनकर उनके माता-पिता बहुत खुश हुए। लेकिन लता जी के जीवन मे मुश्किल समय बांहें फैलाए खड़ा था। उनकी जिंदगी में मुश्किल समय तब आया। जब उनके पिता का दुर्भाग्य से 1942 में देहांत हो गया और परिवार की संपूर्ण जिम्मेदारी लता जी पर आ गई। उस समय उनके भाई हृदयनाथ और बहन आशा उषा और मीना बहुत छोटे थे। लता जी ने सन 1942 से 1948 तक 6 मराठी फिल्मों में अभिनय किया और अपने परिवार की आर्थिक स्थिति को सुधारा।

Lata Mangeshkar Career लता मंगेशकर करियर और सफलता

लता मंगेशकर जी ने कई काम करने के बाद संगीत में अपना कैरियर बनाने पर फोकस किया। उन्होंने पहली बार मराठी फिल्म के लिए गाना गाया। जिसे संपादन के समय निकाल दिया गया। उसके बाद पहली हिंदी फिल्म जिसके लिए उन्होंने गीत गाया वह थी “आपकी सेवा में” यह फिल्म 1946 में आई पर लता के गाने को कोई पॉपुलैरिटी नहीं मिली। क्योकि उस समय फिल्मी दुनिया में भारी भरकम आवाज वाली सिंगर का बोलबाला था।

1948 में आई फिल्म “सहीद” में लता जी द्वारा गाए गीत को फिल्म निर्माता ने यह कहकर फिल्म से निकाल दिया कि उनकी आवाज बहुत पतली है। लेकिन संयोगवश उस फिल्म के संगीतकार गुलाम हैदर वहाँ सब कुछ देख रहे थे। संगीतकार गुलाम हैदर जी ने उसी वक्त फिल्म निर्माता के सामने घोषणा की कि – “यह लड़की संगीत की दुनिया में बहुत जल्द छा जाएगी।”

लता मंगेशकर के रोचक तथ्य

67 वर्ष की उम्र में लता जी छत पर कोई धुन गुनगुना रही थी। अचानक से वह छत से नीचे गिर गई और बेहोश हो गई। लता जी को जब होश आया तो वह दोबारा हंसते हुए उसी धुन को गुनगुनाने लगी जो बेहोश होने से पहले गुनगुना रही थी। lata mangeshkar जी के अनुसार लता जी के स्वर की मधुरता का रहस्य यह भी है कि वह कोल्हापुरी मिर्च अधिक खाती है। लता जी जब कोई गीत गाने जाती है, तो उसको गाने से पहले खुद की भाषा में एक बार लिखती हैं।

  • लताजी की इच्छा है, अगर उनका पुनर्जन्म हो तो वह भारत में ही हो।
  • लता जी जिस मंच पर गाती है, हमेशा नंगे पांव गाती हैं। ऐसा वो मंच के सम्मान में करती हैं।
  • लता जी सर्वोच्च भारतीय नागरिक सम्मान ‘भारत रत्न’ प्राप्त करने वाली पहली प्लेबैक सिंगर है।
  • लताजी लगभग 20 भाषाओं में 50,000 से अधिक गीत गाकर वर्ल्ड रिकॉर्ड बना चुकी है। इसके लिए उनका नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज है।
  • भारत में केवल दो ही शख्सियत है जिन्हें भारत रत्न और दादा साहब फाल्के दोनों सम्मान प्राप्त है। (1) सत्यजित रे  (2) लता मंगेशकर
  • लता मंगेशकर देश की एकमात्र ऐसी हस्ती हैं, जिनकी जीवनकाल में ही उनके नाम पर “लता मंगेशकर पुरस्कार” दिया जा रहा है। यह पुरस्कार सन  1984 से मध्य प्रदेश सरकार तथा 1992 से महाराष्ट्र सरकार द्वारा दिया जाता है।
  • लता जी गायन में इतनी अनुभवी हैं कि वह तीनों सप्तक में गा सकती हैं। जबकि अधिकांश गायक दो ही सप्तक में गा पाते हैं।
  • lata mangeshkar रॉयल अल्बर्ट हॉल लंदन में स्टेज पर गाने वाली पहली भारतीय महिला हैं। (सन- 1974)

Lata Mangeshkar Awards लता मंगेशकर प्रमुख सम्मान

लता जी की अगर सम्मान की बात की जाए तो उनकी अवार्ड लिस्ट में भारत की सबसे सम्मानजनक पुरस्कार शामिल हैं। लेकिन उनके अलावा भी उन्हें बहुत से अवॉर्ड मिले उनके कुछ प्रमुख अवार्ड की लिस्ट इस प्रकार है।

  1. फिल्म फेयर अवार्ड
  2. महाराष्ट्र रत्न पुरस्कार
  3. बंगाल फिल्म पत्रकार संगठन पुरस्कार
  4. पदम श्री
  5. पदम विभूषण
  6. वीडियोकॉन लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार
  7. जीवन गौरव पुरस्कार
  8. नूरजहां सम्मान
  9. हाकिम खान सुर अवार्ड
  10. स्वर भारती पुरस्कार
  11. 250 ट्रॉफी
  12. 150 गोल्डन डिस्क प्लेटिनम डिस्क
  13. हिंदी सिनेमा की सर्वोच्च दादा साहब फाल्के पुरस्कार
  14. भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न (2011)
  15. पदम भूषण

Lata Mangeshkar Biography in Hindi, Lata Mangeshkar Awards, Lata Mangeshkar Career, लता मंगेशकर जीवन परिचय

यह भी पढ़ें>> Jawaharlal Nehru ka Jivan Parichay पंडित जवाहरलाल नेहरू जीवन परिचय