राजस्थान में खनिज संसाधन नोट्स | Khnij Sansadhan Notes

Khnij Sansadhan Notes, Khnij Sansadhan Question, Mineral Resources Notes, Mineral Resources Notes, राजस्थान में खनिज संसाधन नोट्स, राजस्थान में खनिज संसाधन प्रश्नोतर

राजस्थान में खनिज संसाधन नोट्स | Khnij Sansadhan Notes –

◆ खनिज भण्डारण की दृष्टि से झारखंड के बाद राजस्थान का दूसरा स्थान है।
◆ राजस्थान में 79 प्रकार के खनिज पाए जाते है जिनमे से 57 प्रकार के खनिजों का राज्य में खनन किया जा रहा है।
◆ खनिजों की इतनी प्रजातियां पाए जाने के कारण राजस्थान को खनिजों का अजायबघर कहा जाता है ।
◆ राज्य में सर्वप्रथम खनिज नीति 1978 में, दूसरी खनिज नीति 1994 में, नवीन खनिज नीति 4 जून 2015 को जारी की गई ।
◆ राज्य में खान एवं खनिज क्षेत्र की प्रमुख संस्थान राजस्थान राज्य खान एवं खनिज विकास निगम लिमिटेड (RSMML) है । जिसकी स्थापना 1974 में हुई । इसका मुख्यालय उदयपुर मैं है एवं कार्यालय जयपुर में स्थित है।

★ धात्विक खनिज :-

1. सीसा-जस्ता व चाँदी :-
ये तीनो खनिज गलेना अयस्क में पाये जाते है। गलेना से सीसा व चांदी के अयस्क को पृथक कर शोधन हेतु झारखंड भेजा जाता है जबकि जस्ते का शोधन राज्य में दो स्थानों पर किया जाता है-
(A) देबारी – उदयपुर
      कम्पनी – हिन्दुस्तान जिंक लिमिटेड
       स्थापना – 1966
इस कम्पनी के प्रबंधन का कार्य वर्तमान में वेदांता रिसोर्ज ग्रुप के पास में है।
(B) चन्देरिया – चितौरगढ़ –
       जिंक स्मेल्टर सयंत्र
       स्थापना – 2005
उत्पादक क्षेत्र :-
“राम-राज में किशोरियों की चौथ पर बार-बार घुघरा मांडो”
रामपुरा-अंगुचा क्षेत्र – भीलवाड़ा
राजपुरा दरीबा क्षेत्र – राजसमन्द
गुढ़ा-किशोरीदास – अलवर
चौथ का बरवाड़ा – सवाईमाधोपुर
बारडलिया – बाँसवाड़ा
घुघरा-मांडो क्षेत्र – डूँगरपुर
★ उदयपुर में देबारी क्षेत्र की जावर की खान चांदी उत्पादन के लिए प्रसिद्ध है।

2. तांबा :-
भारत में तांबे का शोधन हिन्दुस्तान कॉपर लिमिटेड – खेतड़ी द्वारा किया जाता है ।
     स्थापना – 1967 में अमेरिका के सहयोग से
  ● चांदमारी ताम्र परियोजना के अंतर्गत हिन्दुस्तान कॉपर लिमिटेड द्वारा खेतड़ी में खेतड़ी कॉपर काम्प्लेक्स की स्थापना की गई है ।
उत्पादक क्षेत्र –
“बिदा ने अंजनी की आबरू खेत में खो दी।”
बीदासर – चुरू
अंजनी-सलूम्बर-खेरवाड़ा – उदयपुर
आबू रोड़ – सिरोही
खेतड़ी-सिंघाना – झुंझुनूं
खोह-दरीबा क्षेत्र – अलवर


3. लौहा :-
राज्य में हेमेटाइट किस्म का लोहा पाया जाता है ।
उत्पादक क्षेत्र –
“सिंघानिया की मोरी में नीम रस के नथ का हूर है।”
सिंघाना – झुंझुनूं
डाबला – नीमकाथाना, सीकर
मोरिज-बानोला-चौमू – जयपुर
निमला-रायसेला – दौसा
नाथरा की पाल व हुन्डेर क्षेत्र – उदयपुर
पडरपाल व डांग क्षेत्र – भीलवाड़ा (Khnij Sansadhan Notes)

4. टंगस्टन :-
टंगस्टन की प्राप्ति वोल्फ्रोमाइट अयस्क से होती है
नागौर में डेगाना – भाखरी क्षेत्र तथा सिरोही में वालदा क्षेत्र टंगस्टन उत्पादन के क्षेत्र है।
नागौर व अजमेर जिले की सीमा पर बिजाथल, रेवदार व पिपलिया गांव में भी टंगस्टन के भंडार प्राप्त हुये है ।

5. मैंग्नीज :-
राज्य में मैग्नीज का उत्पादन बाँसवाड़ा में तलवाड़ा, लीलापाड़ी, तामसेरा व फासला क्षेत्र में किया जाता है ।
सवाईमाधोपुर जिले में मैग्नीज के भंडार प्राप्त हुये है ।

6. सोना :-
ऑस्ट्रेलिया की इण्डोगोल्ड कम्पनी के द्वारा बाँसवाड़ा में आनंदपुरा, जगपुरा व भुकीया क्षेत्रों से सोने का उत्पादन किया जा रहा है।

7. बेरेलियम :-
यह बेरिल अयस्क से प्राप्त होता है
इसका उपयोग अणुशक्ति में किया जाता है।
उत्पादक क्षेत्र –
गुजरवाड़ा शिकारवाड़ा क्षेत्र – जयपुर
बान्दर सिन्दरी क्षेत्र – अजमेर
राजसमंद व उदयपुर जिलों में भी बेरेलियम के भंडार है।

Download PDF File In Hindi –  Click Here  

राजस्थान में खनिज प्रश्नोतर | Khnij Sansadhan Question

प्रश्न 1. चांदमारी ताम्र परियोजना राजस्थान के किस जिले में कार्यरत है?
(1) दोसा           (2)झुंझुनू
(3) चित्तौड़गढ़   (4)पाली
सही उतर – (2)

प्रश्न 2. जिलों का कौनसा वर्ग एस्बेटोस खनिज के लिए जाना जाता है –
(1) उदयपुर, भीलवाड़ा, जयपुर
(2) उदयपुर, डूंगरपुर, अजमेर
(3) डूंगरपुर, टोंक, भीलवाड़ा
(4) जयपुर, सीकर, नागौर
सही उतर – (2)

प्रश्न 3. राजस्थान में सर्वाधिक फेल्सपार उत्पादक जिला है –
(1) भीलवाड़ा      (2)जयपुर
(3) कोटा           (4) अजमेर
उतर – (4)

प्रश्न 4. कृष्ण क्रांति किससे संबंधित है –
(1) मछली उत्पादन से
(2) दुग्ध उत्पादन से
(3) खाद्य उत्पादन से
(4) पेट्रोलियम उत्पादन से
सही उत्तर – (4)

प्रश्न 5. बुबानी (अजमेर) से गमगुढ़ा (राजसमंद) व नाथद्वारा तक किस खनिज की विशाल पट्टी का पता चला है –
(1) संगमरमर    (2) पन्ना
(3) ग्रेनाइट        (4)चुना पत्थर
सही उत्तर – (2)

प्रश्न 6. रानेरी गांव के पास लिग्नाइट के विपुल भंडार मिले हैं रानेरी किस जिले में स्थित है ?
(1) बीकानेर      (2)जैसलमेर
(3) बाड़मेर        (4) नागौर
सही उत्तर – (1)

प्रश्न 7. एस्बेस्टॉस उत्पादन में राज्य का अग्रणी जिला कौनसा है-
(1) भीलवाड़ा    (2) डूंगरपुर
(3) उदयपुर       (4) अजमेर
सही उत्तर – (3)

प्रश्न 8. नगाणा (बाड़मेर) गांव का संबंध है – (Khnij Sansadhan Notes)
(1) प्राकृतिक गैस की खोज
(2) स्टील ग्रेड चुने के पत्थर के भंडार
(3) खनिज तेल
(4) पवन ऊर्जा परियोजना
सही उत्तर – (3)

प्रश्न 9. कौनसा युग्म सही सुमेलित नहीं है –
(1) तांबा – खेतड़ी
(2) टंगस्टन – डेगाना
(3) जिप्सम – हरसोंठ
(4) वोलस्टोनाइट – कालागुमान
सही उत्तर – (4)

प्रश्न 10. पेट्रोलियम के उत्पादन में देश में राजस्थान का कौनसा स्थान है ?
(1) पहला      (2) दूसरा
(3) तीसरा      (4) चौथा
सही उत्तर – (2)

प्रश्न 11. कौनसा खनिज उर्वरकों के उत्पादन में काम में लिया जाता है ?
(1) मुल्तानी मिट्टी
(2) घीया पत्थर
(3) जिप्सम
(4) डोलामाइट
सही उत्तर – (3)

प्रश्न 12. राजस्थान में लिग्नाइट कोयला उत्पादन के प्रमुख क्षेत्र स्थित है –
(1) पलाना, मेड़ता और सोनू में
(2) बरसिंगसर, आगूचा और मेड़ता में
(3) बरसिंगसर, कपूरड़ी और मेड़ता में
(4) पालना, कपूरड़ी और सोनू में
सही उत्तर – (3)

प्रश्न 13. राजस्थान में निम्न में से कौनसा जिला फेल्सपार का अधिकतम उत्पादन करता है ?
(1) जयपुर      (2) पाली
(3) सीकर       (4) अजमेर
सही उत्तर – (4)

प्रश्न 14. राज्य में यूरेनियम प्राप्त होता है –
(1) उमरा (उदयपुर)
(2) भद्रावन (पाली)
(3) भीतवाड़ा (पाली)
(4) सलादीपुरा (सीकर)
सही उत्तर – (1)

प्रश्न 15. राजस्थान के खनिजों के बारे में निम्न में से एक कथन असत्य है –
(1) देश का 90% से ज्यादा जिप्सम का उत्पादन राजस्थान में होता है
(2) जिप्सम उत्पादन में नागौर जिला अन्य जिलों से अग्रणी है
(3) गारनेट (रत्नश्रेणी), जास्पर एवं वोलस्टोनाइट के उत्पादन में राजस्थान का एकाधिकार है
(4) खेतड़ी अभ्रक उत्पादन के लिए प्रसिद्ध है ऐसा आईने अकबरी में वर्णन है
सही उत्तर – (4)

Download All Subject Computer Printed Notes

Khnij Sansadhan Notes

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Scroll to Top