सल्तनतकालीन स्थापत्य कला | Sultanate Architecture

दिल्ली सल्तनत Delhi Saltanat

सल्तनतकालीन स्थापत्य कला | Sultanate Architecture: भारतीय इतिहास की इस पोस्ट में सल्तनतकालीन स्थापत्य कला से संबंधित नोट्स एवं महत्वपूर्ण जानकारी उपलब्ध करवाई गई है जो सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए बेहद ही उपयोगी व महत्वपूर्ण है

◼️ अजमेर में कुतुबुद्दीन ऐबक द्वारा बनवाई गई ‘अढ़ाई दिन का झौंपड़ा’ मस्जिद में किस नाटक के अवषेष दबे पड़े है – विग्रहराज चतुर्थ (बीसलदेव) द्वारा रचित ‘हरिकेलि’ नाटक के
◼️ स्थापत्य कला में गुम्बद को आधार प्रदान करने के लिए सबसे पहले भित्ति मेहराब प्रणालियों का प्रयोग किया गया – अलाई दरवाजे में
◼️ वास्तविक मेहराब का प्रयोग सबसे पहले किस मकबरे में किया गया है – बलबन के मकबरे में
◼️ गियासुद्दीन तुगलक के मकबरे की विषेषता है – ढलवाॅं दीवारें (निप्रवण)
◼️ किस सुल्तान ने दिल्ली के चैथे नगर ‘जहाॅपनाह’ का निर्माण करवाया – मुहम्मद तुगलक
◼️ मदरसा-ए-मुइज्जी और मदरसा नासिरी की स्थापना करवाई – इल्तुतमिष ने
◼️ सुल्तानगढ़ी किसका मकबरा है – इल्तुतमिष के पुत्र नसीरूद्दीन महमूद का
◼️ फिरोजाबाद, हिसार, फिरोजपुर, जौनपुर आदि नगरों की स्थापना किस सुल्तान द्वारा की गई – फिरोज तुगलक
◼️ सिकन्दर लोदी ने आगरा नगर की स्थापना की, क्योंकि – वह राजपूताना व मालवा क्षेत्र में सैनिक कार्यवाही करने हेतु उचित आधार तैयार करना चाहता था

यह भी पढ़ें>> दिल्ली सल्तनत (Delhi Saltanat)

◼️ अजमेर का ढ़ाई दिन का झौंपड़ा मस्जिद का निर्माता – कुतुबुद्दीन ऐबक
◼️ दिल्ली का हौज-ए-खास का निर्माता – इल्तुतमिष
◼️ आदिलाबाद का किला बनवाया – मुहम्मद तुगलक ने
◼️ बदायूॅं की जामा मस्जिद का निर्माण करवाया – इल्तुतमिष ने
◼️ कुव्वत-उल-इस्लाम मस्जिद का निर्माता – कुतुबुद्दीन ऐबक
◼️ अलाई दरवाजा का निर्माता – अलाउद्दीन खिलजी
◼️ जौनपुर की अटाला मस्जिद का निर्माता – इब्राहीम शाह शर्की
◼️ टोपरा और मेरठ से अषोक के षिलालेखों को दिल्ली लाने वाला सुल्तान था – फिरोज तुगलक

◼️ कुतुबमीनार है एक – मुसलमानों को नमाज के लिए मुअज्जिन द्वारा पुकारने की मीनार (कुतुबमीनार का निर्माण कुतुबुद्दीन बख्तियार काकी नामक प्रसिद्ध सूफी संत की स्मृति में कुतुबुद्दीन ऐबक द्वारा प्रारम्भ तथा इल्तुतमिष द्वारा पूर्ण करवाया गया। आरम्भ में इसमें केवल चार मंजिलें थी किन्तु मीनार का शीर्ष विद्युतपात के कारण क्षतिग्रस्त हो गया, जिसकी फिरोज तुगलक ने मरम्मत करवाई एवं इसमें एक पांचवी मंजिल और जोड़ दी।)
◼️ भारत में गुम्बद और मेहराब का व्यापक प्रयोग तुर्को के आगमन से प्रारम्भ हुआ, इससे पूर्व – कुषाणकालीन मेहराब और गुम्बद के साक्ष्य भी प्राप्त होते है
◼️ भारत की पहली तुर्की मस्जिद थी – कुव्वत-उल-इस्लाम (कुतुबुद्दीन ऐबक द्वारा बनवाई गई इस मस्जिद का विस्तार इल्तुतमिष और अलाउद्दीन खिलजी के द्वारा करवाया गया।)
◼️ विजय स्तम्भ कहाॅं स्थित है – चित्तौड़गढ़ में
◼️ तुगलकाबाद के किले का निर्माण किसने करवाया – गियासुद्दीन तुगलक ने
◼️ 1202 में नालन्दा विष्वविद्यालय किसने नष्ट कर दिया था – इख्तियारूद्दीन बिन बख्तियार खलजी
◼️ अष्टभुजीय मकबरों की शुरूआत किस मकबरे से हुई – खानेजहाॅं तेलंगानी के मकबरे से (अन्य अष्टभुजी मकबरों में प्रसिद्ध है – सिकन्दर लोदी का मकबरा, सासाराम (बिहार) में झील के बीच बना शेरषाह का मकबरा, इस्लामषाह सूर का मकबरा आदि।)
◼️ किस सुल्तान के मकबरे से दोहरे गुम्बद के मकबरों का प्रचलन हुआ – सिकन्दर लोदी

यह भी पढ़ें>> सल्तनतकालीन साहित्य का विकास | Development of Sultanate Literature

◼️ कौनसा नगर लोदी शासकों की राजधानी था – आगरा
◼️ किन सुल्तानों ने बहराइच में सैयद सालार मसूद गाजी की दरगाह की यात्रा की थी – मुहम्मद बिन तुगलक और फिरोज तुगलक ने
◼️ लोदी स्थापत्य का सर्वश्रेष्ठ नमूना – मोठ की मस्जिद, इसे सिकन्दर लोदी के वजीर ने बनवाया था
◼️ भारत में सच्चे गुम्बद वाली प्राचीनतम अवषिष्ट इमारत – अलाई दरवाजा
◼️ मोहम्मद तुगलक के सम्मान में फिरोज तुगलक ने कौनसा नगर बसाया – जौनपुर
◼️ चित्तौड़ का नाम बदलकर खिज्राबाद किस सुल्तान द्वारा किया गया – अलाऊद्दीन खिलजी द्वारा
◼️ अलाऊद्दीन खिलजी ने दिल्ली में सीरी दुर्ग का निर्माण करवाया, क्योंकि – वह मंगोलों से दिल्ली को सुरक्षित करना चाहता था।
◼️ इस्लामी वास्तुकला हिन्दू और बौद्ध वास्तुकला से किस प्रकार भिन्न थी – मेहराब और गुम्बद का प्रयोग इस्लामी वास्तुकला में हुआ।

◼️ भारत में चूने का गारा बनाने की तकनीक का आरम्भ किया गया – तुर्कों के द्वारा, तुर्क ही कुषाणों के बाद भारी पैमाने पर मेहराब बनाने की तकनीक लाये।
◼️ सल्तनतकाल में कला और स्थापत्य कला मिश्रण था – भारतीय और इस्लामी शैली का
◼️ इण्डो-इस्लामिक कला का सबसे पहला उदाहरण है – कुव्वत-उल-इस्लाम

History Topic Wise Notes & Important Question
सल्तनतकालीन स्थापत्य कला

 73 total views,  3 views today

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Scroll to Top