मराठा साम्राज्य | Maratha empire | Maratha samrajy

मराठा साम्राज्य | Maratha empire | Maratha samrajy: भारतीय इतिहास की इस पोस्ट में मराठा साम्राज्य एवं मराठा प्रशासन से संबंधित नोट्स एवं सम्पूर्ण जानकारी उपलब्ध करवाई गई है जो सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए बेहद ही उपयोगी है मराठा प्रशासन

मराठा साम्राज्य | Maratha empire

👉🏻 शिवाजी का जन्म किस किले में हुआ – शिवनेर, 1627 में
👉🏻 शिवाजी पर सबसे अधिक प्रभाव किसका था – माता जीजाबाई का
👉🏻 दादा कोणदेव थे – शिवाजी के आध्यात्मिक मार्गदर्षक
👉🏻 शिवाजी सबसे अधिक प्रभावित किस संत से थे – तुकाराम
👉🏻 मुगलों के साथ शिवाजी का प्रथम संघर्ष हुआ – 1657 में, जब शिवाजी ने अहमदनगर व जुन्नार के मुगल किलों पर धावे बोले
👉🏻 शिवाजी के प्रारम्भिक संघर्ष किस राज्य के विरूद्ध हुए – बीजापुर
👉🏻 शिवाजी ने छुरा मारकर किसकी हत्या कर दी – बीजापुर के सेनापति अफजल खाॅ की
👉🏻 किसने कहा कि वह अपने घोड़े से उतरे बिना ही शिवाजी को हथकड़ी डालकर गिरफ्तार कर लेगा – बीजापुर का सेनापति अफजल खाॅं
👉🏻 शिवाजी के दमन के लिए औरंगजेब ने किसे भेजा – शाइस्ता खाॅ और मिर्जा राजा जयसिंह को
👉🏻 शिवाजी ने शाइस्ता खाॅं को पराजित किया – 1663 में (Maratha empire)
👉🏻 शिवाजी ने सूरत नगर को लूटा – दो बार, 1664 और 1670 में
👉🏻 किस प्रसिद्ध सेनापति ने शिवाजी के बारे में कहा था कि ‘हम उसे वृत के घेरे की तरह बांध लेंगे।’ – मिर्जाराजा जयसिंह
👉🏻 किस दुर्ग पर राजा जयसिंह के आक्रमण के दौरान दुर्ग की रक्षा करते हुए मुनर बाजी देषपांडे व उसके 300 मालवी सहयोगियों ने अपनी प्राणाहुति दी थी – पुरन्दर का दुर्ग

👉🏻 किस मुगल सेनापति ने शिवाजी को पुरन्दर की संधि (1665) करने के लिए बाध्य किया था – मिर्जा राजा जयसिंह ने
👉🏻 मुगल सम्राट से भेंट करने के लिए शिवाजी किस स्थान पर गए – आगरा
👉🏻 शिवाजी को आगरा में उपस्थित होने के बाद बंदी बनाकर राजकुमार रामसिंह की देखरेख में किस महल में रखा गया – जयपुर महल में
👉🏻 शिवाजी को राजा की उपाधि और बरार की जागीर प्रदान की – औरंगजेब ने
👉🏻 शिवाजी का राज्याभिषेक हुआ – 1674 में रायगढ़ में
👉🏻 शिवाजी के राज्याभिषेक की अध्यक्षता की – गागभट्ट ने
👉🏻 शिवाजी ने किस प्रसिद्ध राजवंष के साथ अपना सम्बन्ध जोड़ा – मेवाड़ के सिसोदिया
👉🏻 तांत्रिक विधि से शिवाजी का दूसरा राज्याभिषेक किया गया – 1674 में ही निष्चलपुरी गोस्वामी द्वारा
👉🏻 अंग्रेज राजदूत, जिसने शिवाजी के राज्याभिषेक समारोह में ईस्ट इण्डिया कम्पनी के उपहारों के साथ रायगढ़ में भाग लिया था – ऑक्सेनडेन
👉🏻 शिवाजी की उस पत्नी का नाम जो उसके साथ सती हुई – पुताबाई
👉🏻 ‘मैं शिवाजी को हिन्दू प्रजाति का अंतिम प्रतिभा सम्पन्न व्यक्ति और राष्ट्र निर्माता मानता हूॅं।’ ऐसा किस इतिहासकार ने कहा – जदुनाथ सरकार ने

👉🏻 शिवाजी का उत्तराधिकारी कौन था – सम्भाजी
👉🏻 अष्ट प्रधान समिति का विघटन किसने किया – सम्भाजी ने
👉🏻 मराठों में जागीर प्रथा का प्रारम्भ हुआ – राजाराम के समय
👉🏻 संताजी धोरपड़े और धनाजी जादव प्रख्यात सेनापतियों के रूप में किसके काल में उदित हुए – राजाराम के समय
👉🏻 रायगढ़ के स्थान पर जिंजी को मराठा क्रियाकलापों का केन्द्र किसने बनाया – राजाराम ने
👉🏻 किस किले में राजाराम मुगलों के घेरे में आठ वर्षों तक रहा – जिंजी
👉🏻 ताराबाई थी – मराठा शासक राजाराम की पत्नी
👉🏻 मराठों की वह महिला सरदार जिसने राजाराम की मृत्यु के बाद मुगल साम्राज्य के विरूद्ध संघर्ष जारी रखा – ताराबाई
👉🏻 पेशवा राज्य का संस्थापक था – बालाजी विष्वनाथ
👉🏻 पेशवा पद को वंषानुगत बनाया गया – बालाजी विष्वनाथ द्वारा
👉🏻 बालाजी विष्वनाथ को पेशवा की पदवी किसने प्रदान की – शाहू
👉🏻 पेशवा बालाजी विष्वनाथ का सम्बन्ध कोंकण स्थित श्रीवर्धन नामक स्थान की किस जाति से था – चितपावन ब्राह्मण
👉🏻 जिस मराठा नेता ने 1719 में फर्रूखसियर का तख्ता पलटने में सैयद बन्धुओं की सहायता की थी, वह था – बालाजी विष्वनाथ
👉🏻 दक्षिण के सूबों से चैथ और सरदेशमुखी प्राप्त करने का अधिकार किस पेशवा ने प्राप्त किया – बालाजी विष्वनाथ ने
👉🏻 शाहु को दक्खन में चैथ एवं सरदेशमुखी का अधिकार किस बादशाह के काल में प्राप्त हुआ – फर्रूखसिअर के काल में
👉🏻 हिन्दू-पद पादशाही किसका आदर्श था – बाजीराव प्रथम

👉🏻 ‘हिन्दू-पद-पादषाही’ का अर्थ है – मराठा स्वराज्य (Maratha empire) (हिन्दू साम्राज्य की स्थापना)

👉🏻 किस मराठा पेशवा ने मराठा पताका कृष्णा से अटक नदी तक फहराने की बात कही – पेशवा बाजीराव प्रथम
👉🏻 मस्तानी थी – पेशवा बाजीराव प्रथम की प्रेमिका
👉🏻 1728 में बाजीराव प्रथम के हाथों किस पराजय के बाद निजाम को मुंशी शिवगांव की संधि पर हस्ताक्षर करने पड़े – पालखेड़ के युद्ध में
👉🏻 पेशवा बाजीराव प्रथम को मुगलों से किन स्थानों की सूबेदारियाॅं प्राप्त हुई थी – मालवा और गुजरात की
👉🏻 उत्तर भारत का वह कौनसा भौगोलिक क्षेत्र था, जहाॅं मराठों को सर्वप्रथम पैर जमाने का मौका मिला – मालवा
👉🏻 किस पेशवा के बारे में कहा गया था कि ‘उसके पास योजनायें बनाने के लिए मस्तिष्क तथा कार्यान्वित करने के लिए हाथ थे।’ – बाजीराव प्रथम
👉🏻 डभोई के युद्ध में पराजित किया – पेशवा बाजीराव प्रथम ने सेनापति त्रंयम्बक राव को
👉🏻 ‘हमें सूखे वृक्ष की जड़ों पर प्रहार करना चाहिए, शाखायें तो अपने आप गिर जायेंगी।’ – बाजीराव प्रथम
👉🏻 1731 में वार्णा की संधि हुई – कोल्हापुर के संभाजी छत्रपति और सतारा के शाहू छत्रपति के बीच
👉🏻 किस यूरोपीयन शक्ति से 1739 में मराठों ने सालसेट और बसीन को जीत लिया था – पुर्तगालियों से
👉🏻 किस संधि के समय छत्रपति ने पेशवा का सम्पूर्ण अधिकार प्रदान कर दिये – संगोला समझौता
👉🏻 किस पेशवा ने जंजीरा के सिद्दियों के विरूद्ध एक लम्बा अभियान आरम्भ किया – बाजीराव प्रथम ने
👉🏻 1751 में बंगाल के अलीवर्दी खाॅं ने किसको उड़िसा का स्वामित्व और बंगाल-बिहार के चैथ के रूप में 12 लाख रूपया वार्षिक देना स्वीकार किया – रघुुजी भौंसले को (Maratha empire)

👉🏻 अलीवर्दी खाॅं द्वारा 1751 में उड़िसा मराठों को सौंपने के पीछे प्रमुख कारण क्या था – सैनिक दृष्टि से मराठों से क्षीणता
👉🏻 बंगाल के द्वितीय मराठा युद्ध के दौरान मुगल सम्राट मोहम्मदशाह के अनुरोध पर राघोजी भोंसले की सैन्य शक्ति के विरूद्ध बंगाल के नवाब की मदद के लिए कौन आया था – निजामुलमुल्क
👉🏻 मराठों (Maratha empire) के विरूद्ध अहमदशाह अब्दाली को समर्थन देने के लिए शुजाउद्दौला केवल इसलिए प्रेरित हुआ कि – वह अपने स्वयं के राज्य को मराठों से सुरक्षित करना चाहता था।
👉🏻 1761 में पानीपत के तृतीय युद्ध में मराठा तोपखाने का प्रमुख अधिकारी – इब्राहीम खाॅं गार्दी
👉🏻 पानीपत के तृतीय युद्ध में मराठों की पराजय का सबसे अधिक फायदा हुआ – अंग्रेजों को
👉🏻 किस मराठा इतिहासकार ने पानीपत के तृतीय युद्ध का आँखों देखा वर्णन किया है – काशीराज पंडित
👉🏻 1761 में पानीपत के तृतीय युद्ध मे मराठा सेना का संचालन किया – सदाशिवराव भाऊ ने
👉🏻 ‘दो मोती विलीन हो गये, बाईस सोने की मुहरें लुप्त हो गई और चांदी एवं तांबें की तो पूरी गणना ही नहीं की जा सकती।’ ये सूचना भेजी गई – पानीपत के तृतीय युद्ध में मराठा पराजय पर बालाजी बाजीराव को
👉🏻 पानीपत के तृतीय युद्ध के संदर्भ में यह किसने कहा कि ‘महाराष्ट्र में शायद ही ऐसा कोई घर होगा, जिसने अपना कोई न कोई सम्बन्धी न खोया हो।’ – जदुनाथ सरकार
👉🏻 अहमदशाह अब्दाली द्वारा पानीपत के तृतीय युद्ध में प्रयुक्त ‘कड़ाबीन’ बन्दूकें – दौड़ने वाले ऊॅंटों की पीठ से चलती थी
👉🏻 ‘पानीपत की दुर्घटना एक प्राकृतिक दुर्घटना की भांति थी, इसमें जनहानि अवश्य हुई परन्तु राजनैतिक हानि कुछ भी नहीं हुई।’ – इतिहासकार सरदेसाई

👉🏻 शिवाजी द्वारा अधिकतर मलिक अम्बर द्वारा स्थापित भू-राजस्व प्रणाली का अनुसरण किया। क्योंकि – वह राजस्व वसूली के छोटे जिलों के बिचैलिए अधिकारियों के माध्यम से प्रथा को समाप्त करना चाहता था।
👉🏻 पेशवा बाजीराव प्रथम ने मुगलों से जो सूबेदारियां प्राप्त की थी, वे थी – गुजरात और मालवा
👉🏻 1761 में अहमदशाह अब्दाली के विरूद्ध मराठा सेना का नेतृत्व किस सेनापति ने किया था – सदाशिव राव ने
👉🏻 पानीपत के तृतीय युद्ध के समय मुगल बादशाह था – शाहआलम द्वितीय
👉🏻 रणभूमि में अपने पतियों के साथ स्त्रियों के साथ जाने की प्रथा को किसने बढ़ावा दिया था – सदाशिव राव ने
👉🏻 पेशवा पद प्राप्त करने के लिए किस मराठा ने अंग्रेजों से सहायता मांगी जिसके फलस्वरूप प्रथम आंग्ल-मराठा युद्ध हुआ – रघुनाथ राव
👉🏻 अंग्रेजों और रघुनाथराव राघोबा के मध्य सूरत की संधि हुई – 7 मार्च, 1775
👉🏻 1776 की पुरन्दर की संधि के समय मराठा प्रतिनिधी कौन था – नाना फड़नवीस
👉🏻 किस मराठा सरदार की मृत्यु पर ब्रिटिष रेजीडेन्ट कर्नल पामर ने कहा कि ‘उसके साथ ही मराठों की सूझबूझ तथा सयंम चला गया।’ – नाना फड़नविस

👉🏻 नाना फड़नवीस का असली नाम था – बालाजी जनार्दन भानु
👉🏻 किस मराठा सरदार का पिता पेशवा बालाजी बाजीराव का अर्दली था और उसके जूते संभालने का काम करता था – माधवराव सिंधिया
👉🏻 पानीपत के तृतीय युद्ध में भाग लेने वाले मराठा नायकों के नाम, जो युद्ध में जिंदा बच गए – नाना फड़नवीस और माधवराव सिंधिया
👉🏻 माधवराव सिंधिया ने अपनी सेनाओं को प्रशिक्षित करने के लिए किस फ्रेंच सेनापति को नियुक्त किया – डी. बोने अथवा डी. वायने
👉🏻 कौन मराठा सेनापति पानीपत के तृतीय युद्ध में जिंदा तो बच गया मगर लंगड़ा हो गया – माधवराव सिंधिया
👉🏻 शिवाजी और बाजीराव प्रथम के बीच एक उभयनिष्ठ विषेषता थी, जिसने युद्धों में इनकी सफलता सुनिश्चित की – छापामार युद्ध प्रणाली
👉🏻 कौन सा पेशवा ‘नाना साहब’ के नाम से प्रसिद्ध था – बालाजी बाजीराव
👉🏻 बालाजी बाजीराव के समय राज्य कर्मचारी एक सचिवालय जैसी संस्था में केन्द्रीत थे, जिसे कहा जाता था – फाद
👉🏻 किस पेशवा के समय मराठा राज्य अपने चरम विस्तार पर था – बालाजी बाजीराव
👉🏻 माधवराव प्रथम की मृत्यु के बारे में यह किसने कहा कि ‘मराठा साम्राज्य को पानीपत की पराजय का उतना आघात नहीं पहुॅंचा, जितना माधवराव की अकाल मृत्यु का।’ – इतिहासकार ग्रांट डफ
👉🏻 किस मराठा सरदार का जन्म एक दलित कुल में हुआ था – सिंधिया
👉🏻 वह मराठा सरदार, जिसने मुगल सम्राट से पेशवा को वकील-ए-मुतलक की पदवी दिलाई, था– महादजी सिंधिया
👉🏻 किस मराठा सरदार की मध्यस्थता से प्रथम आंग्ल-मराठा युद्ध के बाद नाना फड़नविस और अंग्रेजों के मध्य 1782 की सालबाई की संधि हुई – महादजी सिंधीया

👉🏻 सालबाई की संधि के द्वारा अंग्रेजों ने किसे पेशवा स्वीकार कर लिया – माधवराव नारायण
👉🏻 1795 में खुर्दा के युद्ध में मराठों ने निजाम को हराया था। इस युद्ध की विशेष बात थी – निजाम की तरफ से इसमें महिलाओं ने भाग लिया था
👉🏻 किस पेशवा ने नाना फड़नविस के मनमाने व्यवहार से तंग आकर आत्महत्या कर ली – पेशवा माधवराव नारायण ने
👉🏻 मराठों की किस शाखा के नेता ने अंतिम पेशवा बाजीराव द्वितीय को पराजित किया – होल्कर ने
👉🏻 लार्ड लेक ने दिल्ली पर अधिकार किया – 1803 में दौलतराव सिंधिया को हराकर
👉🏻 1804 में किस मराठा सरदार ने कर्नल मोनसन को कोटा के पास मुकुन्दरा के दर्रे में पराजित किया – होल्कर
👉🏻 अंग्रेजों ने पेशवा बाजीराव द्वितीय से 31 दिसम्बर, 1802 को बसीन की संधि, 17 दिसम्बर, 1803 को भोंसले से देवगांव की संधि तथा 31 दिसम्बर, 1803 को सिन्धिया के साथ सुर्जी-अर्जुन गांव की संधि करने के बाद होल्कर के साथ कौनसी संधि की – 1806 में राजपुरघाट की संधि (तृतीय आंग्ल-मराठा युद्ध के समय अंग्रेजों ने पेशवा से पूना की संधि, भोंसले से नागपुर की संधि, सिन्धिया के साथ ग्वालियर की संधि, गायकवाड़ के साथ बड़ौदा की संधि तथा होल्कर के साथ मंदसौर की संधि की।)
👉🏻 किस मराठा सरदार ने तृतीय आंग्ल-मराठा युद्ध के समय बिना युद्ध किए ही अंग्रेजों की अधीनता स्वीकार कर ली – सिंधिया
👉🏻 मराठा राज्य संघ को निर्णायक पराजय देने वाला अंग्रेज गवर्नर जनरल था – लार्ड हेस्टिंग्स
👉🏻 पेशवाओं के अधीन मराठा सरकार का स्वरूप था – ढ़ीला राज्यसंघ
👉🏻 किस कारण पेशवाकालीन मराठा प्रशासन दुर्बल हुआ – जागीर प्रथा का पुनरूत्थान
👉🏻 मराठा इतिवृत कहलाते थे – बखार
👉🏻 मराठों का प्रथम विस्तृत इतिहास लिखने वाला इतिहासकार था – ग्रांट डफ
👉🏻 मराठा सरदार भौंसले कहाॅं से शासक थे – नागपुर के (पेशवा-पुना, होल्कर -इन्दौर, सिंधिया-ग्वालियर, गायकवाड़-बड़ौदा)
👉🏻 मराठा काल में लिखी पुस्तक दासबोध का लेखक था – रामदास

मराठा प्रशासन

👉🏻 ‘अष्ट प्रधान’ किसकी उपज थी – शिवाजी की (मराठों के काल (Maratha empire) में मंत्रियों का समूह ‘अष्ट प्रधान’ कहा जाता था)
⚫️ पेशवा – प्रधानमंत्री
⚫️ पंडितराव – दानाध्यक्ष
⚫️ सुमन्त/दबीर – विदेश सचिव
⚫️ अमात्य/मजुमदार – राजस्व अधिकारी
⚫️ सरनोबत/सेनापति – पैदल सेना अधिकारी
⚫️ मंत्री/वाकियानवीस – राज दरबार की घटनाओं का विवरण रखने का प्रभारी
⚫️ शुरूनवीस/सचिव – पत्र-व्यवहार का प्रभारी अधिकारी
⚫️ न्यायाधीष
👉🏻 शिवाजी के राज्य में प्रान्तों की संख्या थी – चार
👉🏻 शिवाजी के समय कुल उपज का 33 प्रतिशत भाग राजस्व के रूप में लिया जाता था, जिसे बढ़ाकर बाद में कर दिया गया – चालीस प्रतिशत
👉🏻 शिवाजी ने अपनी राजस्व व्यवस्था को किससे ग्रहण किया था – मलिक अम्बर से
👉🏻 नये राजस्व निर्धारण के लिए शिवाजी के निर्देशानुसार 1679 में किसने एक विस्तृत सर्वेक्षण किया – अन्नाजी दत्तो ने
👉🏻 शिवाजी का प्रशासन था – निरंकुश लोकहितवादी
👉🏻 शिवाजी धार्मिक सहिष्णु शासक था, क्योंकि – उसने मुस्लिम तीर्थक्षेत्रों को राजस्वमुक्त भूमि दान की
👉🏻 शिवाजी की अश्व सेना को कहा जाता था – पागा
👉🏻 शिवाजी के शासनकाल में पैदल सेना का अधिकारी, सर-ए-नौबत नायकत्व करता था – 7000 सिपाहियों का
👉🏻 शिवाजी अपने समुद्री बेड़े को कहाॅं ठहराते थे – कोलाबा में
👉🏻 मराठों से समकालीक शक्तियाॅं नाराज क्यों रहती थी – चौथ और सरदेशमुखी की वसूली के कारण
👉🏻 शिवाजी के राज्य की आय का प्रमुख साधन – चौथ और सरदेशमुखी कर
👉🏻 मराठों का सरदेशमुखी था – देशमुखों पर लगाया जाने वाला एक कर
👉🏻 शिवाजी सरदेशमुखी वसूल करते थे – 1/10 की दर से
👉🏻 मराठा प्रशासन में भू-राजस्व वसूलने का अधिकार होता था – गांव के पटेल को
👉🏻 शिवाजी के प्रशासन में पाटिल/पटेल कहां का प्रशासन देखता था – गांव का
👉🏻 शिवाजी के साम्राज्य के संगठन में सर्वाधिक योगदान रहा – छोटे वतनदारों का
👉🏻 शिवाजी की घुड़सवार सेना में सबसे नीचे की श्रेणी का अधिकारी कौन होता था – हवलदार (25 साधारण सैनिकों के ऊपर)
👉🏻 शिवाजी की पैदल सेना में सबसे नीचे की श्रेणी के अधिकारी को कहा जाता था – नायक (9 सिपाहियों पर)
👉🏻 पूना में पेशवा का दफ्तर कहलाता था – हजूर दफ्तर

👉🏻 मराठा काल (Maratha empire) में गांवों के अधिकारी ‘बारह बलूटे’ होते थे – शिल्पी, जो भिन्न-भिन्न सेवाओं के बदले गांव वालों से अनाज प्राप्त करते थे
👉🏻 मराठा काल में ‘बबती’ का अर्थ – चौथ की आय में राजा का 1/4 हिस्सा
👉🏻 मराठा राजतन्त्र को ‘सैनिक गणतन्त्र’ की संज्ञा किसने दी है – इतिहासकार टोन
👉🏻 मराठा शासन के प्रारम्भिक दशकों में भूराजस्व की माप की सर्वाधिक लोकप्रिय इकाई थी – काठी
👉🏻 ‘मोकासा’ का अर्थ है – नगद वेतन के बदले दिया गया भूमि-अनुदान
👉🏻 मराठा काल में ‘सरन्जाम’ – सैनिक सेवाओं के बदले दिया गया भू-अनुदान
👉🏻 बरगीर व सिलेदार कौन थे – मराठा घुड़सवार
👉🏻 पेशवाओं के अधीन मराठा नौसेना की जिम्मेदारी सौंपी गई – कान्हो जी आंग्रे
👉🏻 मराठा आन्दोलन मुगल साम्राज्य के केन्द्रीयकरण के विरूद्ध प्रतिक्रिया के रूप में प्रारम्भ हुआ – सतीशचन्द्र
👉🏻 मराठों का उदय औरंगजेब की साम्प्रदायिक नीति के प्रति हिन्दूओं की प्रतिक्रिया का परिणाम था – जादुनाथ सरकार
👉🏻 मराठों का उत्थान मुगलों से मुक्ति के लिए राष्ट्रीय आन्दोलन था – एम. जी. रानाडे
👉🏻 पेशवाओं के काल में विधवा पुनर्विवाह पर लगाया गया कर था – पतदाम
👉🏻 किस इतिहासकार ने शिवाजी के राज्य को ‘डाकू राज्य’ की संज्ञा दी है – स्मिथ

History Topic Wise Notes & Question
Maratha empire

Leave a Comment

error: Content is protected !!