दिल्ली सल्तनत (Delhi Saltanat)

दिल्ली सल्तनत (Delhi Saltanat)

दिल्ली सल्तनत (Delhi Saltanat): इस पीडीएफ के माध्यम से राजस्थान की टॉप फैकल्टीज द्वारा तैयार किये गए दिल्ली सल्तनत के वन लाइनर प्रश्नो की श्रंखला उपलब्ध करवा रहे है। जो UPSC, RAS, Bank, SSC, कॉलेज व्याख्याता, स्कूल व्याख्याता, द्वितीय श्रेणी अध्यापक, REET, RTET, CTET, HTET, UPTET, राजस्थान पुलिस, पटवार, ग्रामसेवक, लाइब्रेरियन एवं अन्य सभी परिक्षाओ के लिए बेहद ही उपयोगी एवं महत्वपूर्ण है।

👉🏻 भारत में तुर्कों की विजय का सबसे महत्वपूर्ण कारण था – तुर्कों की घुड़सवार सेना
👉🏻 गुजरात के शासक भीम प्रथम के समय में 1025 ई. में षिव के प्रसिद्ध सोमनाथ मंदिर पर आक्रमण करने वाला शासक – महमूद गजनवी
👉🏻 मोहम्मद गोरी की हत्या की – खोखर ने (इसी जात्ति ने सोमनाथ मन्दिर लूटकर लौटते हुए महमूद गजनवी को लूट लिया था, बाद में 1027 में महमूद गजनवी ने अपना अंतिम और 17वां आक्रमण इसी जात्ति के विरूद्ध किया था।)
👉🏻 मुहम्मद गौरी को पराजित करने वाले राजा थे – भीम द्वितीय (1178) और पृथ्वीराज चैहान (1191-तराईन का प्रथम युद्ध)
👉🏻 मोहम्मद गोरी ने चन्दावर के युद्ध में किस वर्ष जयचन्द्र को पराजित किया – 1194 में
👉🏻 कुतुबुद्दीन ऐबक की राजधानी थी – लाहौर (यहीं पर 1210 में चैगान (आधुनिक पोलो) खेलते समय घोड़े से गिरने के कारण उसकी मृत्यु हो गई थी।)
👉🏻 कुतुबुद्दीन ऐबक के बाद दिल्ली का शासक कौन बना – आरामषाह
👉🏻 दिल्ली सल्तनत का प्रथम वैधानिक सुल्तान था – इल्तुतमिष
👉🏻 प्रथम इल्बारी शासक था – इल्तुतमिष
👉🏻 गुलामवंष का वास्तविक संस्थापक था – इल्तुतमिष
👉🏻 किस इतिहासकार ने इल्तुतमिष को भारत में मुस्लिम राज्य का वास्तविक संस्थापक माना है – आर. पी. त्रिपाठी
👉🏻 इल्तुतमिष के काल में 1221 में किस मंगोल आक्रमणकारी का खतरा भारत पर मंडरा रहा था – चंगेज खाॅ
👉🏻 किस सुल्तान के शासनकाल में चंगेज खाॅं का एक राजदूत दिल्ली सल्तनत की राजसभा में भेजा गया था – इल्तुतमिष
👉🏻 इल्तुतमिष के बाद सुल्तान कौन बना – रूकनुद्दीन फिरोज
👉🏻 रजिया सुल्ताना किसकी उत्तराधिकारी थी – इल्तुतमिष की
👉🏻 किस सुल्तान ने सिक्कों पर उमदत-उल-निषा विरूद धारण किया – रजिया ने
👉🏻 किसने दिल्ली की जनता के सहयोग से शांतिपूर्वक राजगद्दी प्राप्त की – रजिया ने
👉🏻 ऐसा कहा जाता है कि फिरोज तुगलक दिल्ली सल्तनत के पतन का कारण बना, क्योंकि – उसने सेना को आनुवांषिक कर दिया।
👉🏻 बलबन ने राजत्व सिद्धान्त को परिभाषित किया था, क्योंकि वह – ताज की प्रतिष्ठा में वृद्धि करना चाहता था।
👉🏻 फिरोज तुगलक ने – धार्मिक व्यक्तियों को दी जाने वाली करमुक्त भूमि को पुनः स्थापित किया, शरा द्वारा अस्वीकृत सभी करों को समाप्त कर दिया, षिक्षकों को दिया जाने वाला अनुदान तथा विद्यार्थियों को दी जाने वाली छात्रवृति बढ़ा दी।
👉🏻 वह प्रथम सुल्तान जिसने धर्म को राज्य के नियन्त्रण में लाने का प्रयास किया – अलाउद्दीन खिलजी
👉🏻 मध्यकालीन राजनीतिक विचारों द्वारा प्रतिपादित अद्ल का सिद्धान्त क्या व्यक्त करता था – न्याय
👉🏻 बलबन ने अपने दरबार में फारसी रीति एंव षिष्टाचार क्यों लागू किया था – सुल्तान की गरिमा बढ़ाने हेतु
👉🏻 किस सुल्तान ने ‘नियाबत-ए-खुदाई’ (ईष्वर का प्रतिनिधि) तथा ‘जिलिल्लाह’ (ईष्वर की छाया) की उपाधियाॅं धारण की – बलबन ने
👉🏻 निजामुद्दीन औलिया से शत्रुता मानने वाला सुल्तान था – गियासुद्दीन तुगलक
👉🏻 किस सुल्तान ने जिन प्रभा सूरि से आधी रात तक बातचीत की – मुहम्मद बिन तुगलक
👉🏻 निजामुद्दीन औलिया ने यह किस सुल्तान को कहा था कि ‘हनूज दिल्ली दूर अस्त’ (दिल्ली अभी दूर है।) – गियासुद्दीन तुगलक
👉🏻 दिल्ली सल्तनत में ‘दीवान-ए-अमीर कोही’ की स्थापना किसने की – मुहम्मद तुगलक ने
👉🏻 किस सुल्तान के विरूद्ध हाजी मौला ने विद्रोह किया था – अलाउद्दीन खिलजी
👉🏻 अलाउद्दीन खिलजी के अनुसार किसी भी विद्रोह के सामान्यतः चार कारण होते थे – गुप्तचर विभाग की विफलता, मद्यपान का सामान्य रिवाज, अमीरों में सामाजिक मेल-मिलाप तथा परस्पर विवाह सम्बन्ध और कुछ लोगों के पास अत्यधिक धन होना।
👉🏻 विंध्याचल पर्वत को पार करने वाला प्रथम तुर्क विजेता था – अलाउद्दीन खिलजी
👉🏻 सीमान्त क्षेत्र के उग्र निवासी जिन्होंने महमूद गजनवी तथा मुहम्मद गौरी दोनों के लिए समस्याएॅं पैदा की, थे – खोखर
👉🏻 किस सुल्तान के काल में 1336 में विजयनगर तथा 1347 में बहमनी राज्य अस्तित्व में आये – मुहम्मद तुगलक (विजयनगर राज्य की स्थापना हरिहर और बुक्का नामक दो भाईयों तथा बहमनी राज्य की स्थापना हसन गंगू ने की थी।)

👉🏻 किस सुल्तान द्वारा बेरोजगारों के लिए रोजगार दफ्तर और अनाथ मुसलमान लड़कियों के विवाह व विधवाओं की आर्थिक सहायता के लिए दीवान-ए-खैरात की स्थापना की गई – फिरोज तुगलक
👉🏻 वह विषय क्षेत्र, जो हिन्दूओं द्वारा अपेक्षाकृत उपेक्षित रहा लेकिन वहाॅं मुसलमान लेखकों ने अपनी निपुणता दिखाई -इतिहास
👉🏻 तुर्क अपने साथ वाद्य यंत्र लाये – रबाब और सांरगी
👉🏻 सल्तनतकाल में भारत में किन-किन तकनीकों का विकास हुआ – कागज, रहट और चरखा
👉🏻 बरनी के अनुसार फिरोजषाह के शासनकाल में शांति एवं समृद्धि के लिए उत्तरदायी कारण था – अधिकारियों की योग्यता
👉🏻 किस सुल्तान को खलिफा से ‘सैयद-उस-सलातीन’ की पदवी प्राप्त हुई थी – फिरोज तुगलक को
👉🏻 सल्तनत काल में महदवियों के विद्रोह का दमन किया था – फिरोज तुगलक ने
👉🏻 कौनसा विदेषी यात्री दिल्ली का काजी बना – इब्नबतूता (यह दक्षिण अफ्रीका में मोरक्कों का निवासी था जो 1333 में मुहम्मद तुगलक के समय दिल्ली आया था।)
👉🏻 ‘तुर्कल्लाह’ की पदवी दी गई है – अमीर खुसरो को
👉🏻 तुर्कों के विरूद्ध लगातार युद्धों में पराजय के बाद आत्महत्या करने वाला अजमेर का चैहान राजा था – हरिराज
👉🏻 किस राज्य को दिल्ली के सुल्तान बहलोल लोदी ने 1484 में अधिग्रहीत कर लिया था – जौनपुर को
👉🏻 सल्तनत काल में गुप्तचरों को कहा जाता था – बरीद
👉🏻 अलाउद्दीन खिलजी के समय विभिन्न स्थानों के विजेता सेनापति थे – ़रणथम्भौर विजय-उलूग खाॅ और नूसरत खाॅ, माॅडू विजय-आइन-उल-मुल्क मुल्तानी, जालोर विजय-कमालुद्दीन गुर्ग, दक्षिण विजय-मलिक काफूर
👉🏻 यह किस लेखक का कथन था ‘‘जब मुहम्मद तुगलक की मृत्यु हुई तो वह अपनी प्रजा से मुक्त हो गया और उसकी प्रजा उससे मुक्त हो गई – बदायूंनी
👉🏻 बरनी किस सुल्तान का नदीम (जिंदा दिल साथी) था – मुहम्मद तुगलक का
👉🏻 रक्त और लौह नीति के लिए कौनसा सुल्तान प्रसिद्ध था – बलबन
👉🏻 किस उद्देष्य से इल्तुतमिष ने खलीफा से अधिकार-पत्र प्राप्त किया – सत्ता पर पकड़ मजबूत करने हेतु
👉🏻 ‘उर्दू-ए-मुअल्ला’ का अभिप्राय था – शाही षिविर
👉🏻 लाहौर में गजनी वंष का अंतिम शासक था – खुसरो मलिक
👉🏻 महमूद गजनवी के आक्रमण के समय हिन्दू शाही राज्य की राजधानी कहाॅं थी – उद्भाण्डपुर (ओहिन्द)
👉🏻 इल्तुतमिष द्वारा ‘रावत-ए-अर्ज’ की पदवी दी गई – इमादुलमुल्क को
👉🏻 किस शासक के काल में एतगीन को नियुक्त करने के लिए नायब का पद बनाया गया – मुईजुद्दीन बहरामषाह के समय
👉🏻 दिल्ली सल्तनत में कुल किसने वंष हुए – पांच
👉🏻 चित्तौड़ का कीर्तिस्तम्भ, जिसे ‘हिन्दू देवषास्त्र का चित्रित कोष’ कहा गया है, किसके द्वारा निर्मित है – महाराणा कुम्भा द्वारा
👉🏻 किस सूफी संत ने चिन्तामणि भट्ट की शुक-सप्तति का तूतीनामा नामक फारसी कृति में अनुवाद किया – ख्याजा जियाउद्दीन नक्षवी
👉🏻 ‘किताब-ए-नौरस’ में अपलब्ध कविताएॅं, जो विभिन्न रोगों में गायन हेतु थीं, किसके द्वारा रची गई – बीजापुर के सुल्तान इब्राहिम आदिलषाह द्वितीय
👉🏻 मध्यकालीन भारत में कलन्दर कौन थे – घूमन्तू दर्वेष
👉🏻 किस शासक के काल में काजी मुगिस सद्र-उस-सद्र (मुख्य काजी) नियुक्त किए गए – अलाउद्दीन खिलजी
👉🏻 अमीर खुसरो ने जलालुद्दीन खिलजी के सैनिक अभियानों का वर्णन अपनी किस रचना में किया है – मिफ्ता-उल-फुतूह
👉🏻 बलबन ने राजत्व का सिद्धान्त कहाॅ से ग्रहण किया – सासानी पर्षिया (फारस-ईरान)
👉🏻 अलाउद्दीन खिलजी का राजत्व सिद्धान्त था – राजाओं के दैवी अधिकार
👉🏻 फिरोज तुगलक द्वारा प्रारम्भ जागीरदारी प्रथा का महत्वपूर्ण परिणाम था – तुगलक वंष का पतन
👉🏻 वेतन के स्थान पर जागीर प्रथा को पुनस्र्थापित किया – फिरोज तुगलक
👉🏻 दिल्ली सल्तनत में सबसे अधिक समय तक तुगलक वंष ने शासन किया जबकि सबसे कम शासन किया – खिलजी वंष ने
👉🏻 फारसी का होमर – फिरदौसी
👉🏻 महमूद गजनवी के साथ भारत आने वाला विद्वान – अलबरूनी
👉🏻 किस सुल्तान ने षिक्षा में व्यावसायिक पाठ्यक्रम चलाया – फिरोज तुगलक ने
👉🏻 किस पुस्तक में सल्तनतकालीन प्रषासनिक व्यवस्था और आदर्ष मुसलमान शासक के गुणों का वर्णन किया गया है – बरनी की पुस्तक फतवा-ए-जहाॅंदारी में
👉🏻 किस सुल्तान ने स्वयं घूसखोरी को बढ़ावा दिया – फिरोज तुगलक ने (इतिहासकार अफीफ एक ऐसे घुड़सवार का उल्लेख करता है जिसे सुल्तान ने अपने खजाने से एक टंका दिया ताकि वह रिष्वत देकर अर्ज सें अपने घोड़ें पास करवा सके।)

👉🏻 बलबन द्वारा शासक पद की शक्ति और प्रतिष्ठा पुनस्र्थापित करने के लिए कौन से उपाय किए गये – उसने इरानी पौराणिक वीर अफरासियाब का वंषज होने का दावा किया और सिजदा व पैबोस जैसी ईरानी परम्पराओं को अपनाया।
👉🏻 अमीर खुसरों ने नूह सिपहर की रचना की – भारत व मुबारक खिलजी की प्रषंसा में
👉🏻 बहलोल लोदी का राजत्व सिद्धान्त बंधुता पर आधारित था, क्योंकि वह – अफगान जनजातीय भावनाओं का आदर करता था।
👉🏻 अमीर खुसरो के अनुसार शतरंज का आविष्कार हुआ था – भारत में
👉🏻 मुहम्मद तुगलक के सुधार असफल क्यों हो गए – क्योंकि उन्हें गलत ढ़ंग से लागू किया गया
👉🏻 मुहम्मद तुगलक की योजनायें थी – खुरासन विजय, कराचिल अभियान, सांकेतिक मुद्रा, राजधानी परिवर्तन और दोआब में कर वृद्धि
👉🏻 दिल्ली सल्तनत राज्य का विस्तार किस सुल्तान के समय में सर्वाधिक था – मुहम्मद तुगलक
👉🏻 लोदी वंष के शासक थे – अफगान
👉🏻 आर. पी. त्रिपाठी के अनुसार लोदी शासकों का राजत्व सिद्धान्त आधारित था – समानता पर
👉🏻 जौहर प्रथा का प्रचलन था – राजपूतों में
👉🏻 13वीं शताब्दी के शासक किस वंष का है – तुर्क वंष के
👉🏻 इस्लाम में शरियत का सम्बन्ध है – कानून व न्याय से
👉🏻 दिल्ली सल्तनत की स्थापना की पारम्परिक तिथि थी – 1206
👉🏻 खिलजी वंष के शासन की स्थापना होना ‘खिलजी क्रांति’ कहा जाता है, क्योंकि – इस समय से तुर्क अभिजात वर्ग की सत्ता के एकाधिकार की समाप्ति हो गई, खिलजी सुल्तान ने राज्य को राजनीतिक एकरूपता प्रदान की तथा साम्राज्यवादी और आर्थिक नीतियों में उग्र और प्रबल परिवर्तन हुए।
👉🏻 कौन सा सुल्तान सबसे अधिक विद्वान, विवादास्पद और पागल कहलाता था – मुहम्मद तुगलक
👉🏻 दिल्ली सल्तनत के शासकों में किसका राजत्व का सिद्धान्त प्रतिष्ठा, शक्ति और न्याय पर आधारित था – बलबन
👉🏻 जागीर प्रथा से क्या हुआ – अधिकारों का विकेन्द्रकरण, राजतंत्र की दुर्बलता और सामन्तवर्ग की शक्ति वृद्धि
👉🏻 इतलाक, एक प्रकार की हुण्डी जिसकी सहायता से राजकीय सिपाही राज्य के राजस्व अधिकारियों से अपना वेतन प्राप्त करने में समर्थ था, की प्रथा चलाई – फिरोज तुगलक ने
👉🏻 सुल्तान फिरोज तुगलक के शासन काल में हिसामुद्दीन जुनैदी द्वारा आकलित दिल्ली सल्तनत का कुल जमा था – छह करोड़ पचहत्तर लाख
👉🏻 हिन्दी में कविता और पहेलियाॅं लिखने वाला प्रथम मुस्लिम कवि था – अमीर खुसरो
👉🏻 वह सुल्तान जिसने तैमूर और शाहरूख का नाम अपने सिक्कों पर अंकित करवाया था – खिज्र खाॅं
👉🏻 ‘इक्ता’ का अर्थ था एक भू-भाग जो – सैनिक सेवा के बदले में दिया जाता था।
👉🏻 किस सुल्तान ने किसानों के ऊपर से अधिकाधिक कष्टकारी कर हटा लिए थे – फिरोज तुगलक ने
👉🏻 ‘खलीफतुल्ल अल्लाह’ की उपाधि धारण की – मुबारकषाह खिलजी
👉🏻 मुहम्मद तुगलक के समय विद्रोह के सर्वाधिक महत्वपूर्ण कारणों में अति-महत्व का कारण था – वह उलेमाओं के विरूद्ध निर्णय देता था।
👉🏻 सुल्तान नासिरूद्दीन की सेवा में रहने वाला एक भारतीय मुसलमान अमीर, जिसने बलबन की साजिषों से सर्वोच्च पद खो दिया था, कौन था – इमादुद्दीन रैहान
👉🏻 राजकार्यो में सबसे पहले उलेमाओं का विरोध किया – अलाउद्दीन खिलजी
👉🏻 निजामुद्दीन जुनेदी प्रसिद्ध वजीर था – इल्तुतमिष का
👉🏻 सुल्तान फिरोजषाह तुगलक ने अपने खुतबे में किस प्रसिद्ध सुल्तान का नाम सम्मिलित नहीं किया – कुतुबुद्दीन ऐबक का
👉🏻 सिकन्दर लोदी ने – भू-राजस्व निर्धारिण हेतु भूमि को नापा, एक अनुवाद विभाग की स्थापना की और अन्न पर से जकात कर समाप्त कर दिया।
👉🏻 आलमखाना किस कारखाने से सम्बन्धित था – पताकाओं से सम्बन्धित
👉🏻 किस सुल्तान ने सर्वप्रथम मुस्लिम स्त्रियों को दिल्ली के बाहर स्थित मजारों पर जाने पर प्रतिबन्ध लगा दिया – फिरोज तुगलक
👉🏻 इतिहासकार जियाउद्दीन बरनी के अनुसार दिल्ली का आदर्ष सुल्तान था – फिरोज तुगलक
👉🏻 किस इतिहासकार ने सल्तनतकालीन डाक व्यवस्था का विस्तृत वर्णन किया है – इब्नबतूता
👉🏻 अपने राज्यारोहण के ठीक पूर्व मुक्ति के रूप में सुल्तान इल्तुतमिष के पास कौन सा इक्ता था – बदायॅूं
👉🏻 किन सुल्तानों ने ईरान की राजतंत्रीय परम्पराओं को ग्रहण किया तथा उन्हें भारतीय वातावरण में समन्वित किया – इल्तुतमिष और बलबन ने (रजिया को अपना उत्तराधिकारी चुनते समय इल्तुतमिष ने ईरानी परम्परा से ही प्रेरणा ग्रहण की थी, जहाॅं पिता के बाद पुत्री के सिंहासनारोहण होने के उदाहरण प्राप्त होते है।)
👉🏻 भारत से दासों के निर्यात पर प्रतिबन्ध लगाया – फिरोज तुगलक ने

👉🏻 कहाॅं के सुल्तानों को सुल्तान-उष्-षर्क कहा जाता है – जौनपुर
👉🏻 शर्की साम्राज्य की स्थापना किसने की – मलिक सरवर ने
👉🏻 वह कौनसा सुल्तान था जिसने होली के त्यौंहार में पहली बार भाग लिया था – मुहम्मद तुगलक
👉🏻 दिल्ली को राजधानी बनाने वाला सुल्तान था – इल्तुतमिष
👉🏻 दिल्ली से राजधानी देवगिरी (दौलताबाद) परिवर्तित करने वाला शासक – मुहम्मद तुगलक
👉🏻 सुल्तान मुईजुद्दीन मुहम्मद गौरी ने भारत में पहला आक्रमण किस स्थान पर किया था – मुल्तान (1175)
👉🏻 सुल्तान इल्तुतमिष के काल में न्याय चाहने वाले व्यक्ति को किस रंग के कपड़ें पहनने पड़ते थे – लाल रंग के, रजिया भी दिल्ली की जनता से न्याय मांगने के समय लाल कपड़ों में ही थी।
👉🏻 काजी मुगीसुद्दीन को यह किसने कहा था कि ‘मैं इस बात की चिन्ता नहीं करता कि कोई नियम शरियत सममत है या नहीं, मैं वहीं करता हूॅं जो राज्य के हित में उचित समझता हूॅं।’ – अलाउद्दीन खिलजी
👉🏻 किस साहित्यकार ने आठ सुल्तानों का शासनकाल देखा – अमीर खुसरो (बलबन, कैकुबाद, क्यूमर्ष, जलालुद्दीन खिलजी, अलाउद्दीन खिलजी, मुबारकषाह, खुसरोषाह और ग्यासुद्दीन तुगलक)
👉🏻 किस सुल्तान की माता विद्वानों एवं पवित्रजनों को उपहार एवं दान देने के लिए प्रसिद्ध थी – रूक्नुद्दीन फिरोजषाह की माता शाहतुर्कान
👉🏻 किसने ‘कुरान खाॅ’ और ‘लाखबख्श’ की उपाधियाॅ धारण की – कुतुबुद्दीन ऐबक (1206-10) ने
👉🏻 इतिहासकार मिनहाज सिराज के अनुसार दिल्ली का आदर्ष सुल्तान कौन था – नासिरूद्दीन महमूद
👉🏻 ‘उष्री भूमि’ के स्वामी कौन थे – तुर्की मुस्लिम
👉🏻 वह दिल्ली सुल्तान, जिसके यहाॅं चीन के मंगोल सम्राट का एक षिष्टमण्डल कुछ बौद्ध मंदिरों को देखने की अनुमति के लिए आया था – मुहम्मद तुगलक
👉🏻 विवाह विभाग की स्थापना की थी – फिरोज तुगलक ने
👉🏻 अलाउद्दीन खिलजी ने किस हिन्दू शासक को ‘रायरायान’ की उपाधि प्रदान की थी – देवगिरि के शासक रामचन्द्र देव को
👉🏻 इलतुतमिष ने खलिफा से खिलअत किस वर्ष में प्राप्त की – 1229 में
👉🏻 इल्तुतमिष द्वारा स्थापित चालीसा दल/तुर्कान-ए-चिहिलगानी का अंत किस सुल्तान ने किया – बलबन ने
👉🏻 किस राजवंष के अन्तर्गत ‘विजारत’ का सर्वाधिक विकास हुआ – तुगलक वंष
👉🏻 कौन-सा भारतीय वाद्ययंत्र भारतीय इस्लामी समन्वय का सर्वश्रेष्ठ उदाहरण है – सितार
👉🏻 किस शासक ने अपने को खलीफा घोषित किया – मुबारकषाह खिलजी
👉🏻 दासों की देखरेख करने के लिए अलग से विभाग किस सुल्तान के काल में बनाया गया – फिरोज तुगलक
👉🏻 अफगानपुर में अस्थाई लकड़ी के मण्डप का रचियता कौन था – अहमद अयाज (इब्नबतूता के अनुसार गियासुद्दीन तुगलक की मृत्यु इस मण्डप के ढ़हने से हुई थी जबकि बरनी के अनुसार उसकी मृत्यु बिजली गिरने से हुई थी।)
👉🏻 दिल्ली का एकमात्र सुल्तान जिसने ब्राह्मणों पर भी जजिया कर लगाया – फिरोज तुगलक
👉🏻 दिल्ली का प्रथम सुल्तान जिसने दरबार में गैर-इस्लामी प्रथाओं का प्रचलन प्रारम्भ किया – बलबन, उसने सिजदा (झूक कर सलाम करना) और पैबोस (सुल्तान के पैरांे को चुमना) जैसी फारसी प्रथाऐं और नौरोज (फारसी नववर्ष) नामक त्यौंहार मनाना प्रारम्भ किया था।
👉🏻 राजत्व के सिद्धान्त एवं प्रषासनिक सिद्धान्तों के संकलन ‘वसैय्या’ किस सुल्तान ने जारी किया – बलबन, बलबन के वसैय्या का संकलन बरनी ने किया है।
👉🏻 दास प्रथा को बढ़ावा दिया – फिरोज तुगलक (ने सर्वाधिक), इल्तुतमिष और बलबन ने
👉🏻 रजिया के पतन का वास्तविक कारण था – तुर्क अमीरों की महत्वाकांक्षा, जबकि मिनहाज सिराज ने उसके पतन का कारण उसका महिला होना माना है।
👉🏻 अलाउद्दीन खिलजी की राजस्थान व मलिक काफूर की दक्षिण विजयों की जानकारी अमीर खुसरो की किस रचना से प्राप्त होती है – खजाइन-उल-फुतूह, इसी का दूसरा नाम तारीख-ए-अलाई है।
👉🏻 किसको हजारदीनारी की पदवी दी गई थी – मलिक काफूर को
👉🏻 प्रथम सुल्तान जिसने स्थाई सेना का गठन किया – अलाउद्दीन खिलजी
👉🏻 मंगोल आक्रमणकारी कुतलुग ख्वाजा ने भारत में किस सुल्तान के काल में आक्रमण किया – अलाउद्दीन खिलजी
👉🏻 बलबन अपने राज्य क्षेत्र का विस्तार नहीं कर पाया, क्योंकि – वह मंगोल आक्रमण के भय के कारण अधिकांष समय अपने राज्य की सुरक्षा में ही लगा रहा।
👉🏻 किस सुल्तान के काल में दिल्ली सल्तनत के अमीर वर्ग के लिए ‘खान’ की पदवी आरम्भ की गई – बलबन
👉🏻 बलबन द्वारा बंगाल में किसके विद्रोह का दमन किया गया – तुगरिल खान
👉🏻 सिकन्दर लोदी की मृत्यु किस वर्ष में हुई – 1517
👉🏻 दिल्ली सल्तनत में सीधे राजकीय नियन्त्रण में रहने वाली सेना को कहा जाता था – हष्मे कल्ब
👉🏻 कौनसा प्रसिद्ध सुल्तान एक कुषल सेनानायक नहीं था – फिरोज तुगलक
👉🏻 फिरोज तुगलक को उसके दोनों बंगाल अभियानों में मिली – असफलता
👉🏻 दिल्ली सुल्तान की राज्य सत्ता का मूल स्त्रोत था – सैन्य शक्ति
👉🏻 सुल्तानों के काल में सेना का सबसे महत्वपूर्ण अंग था – अष्व सेना
👉🏻 अलाउद्दीन खिलजी और बलबन दोनों ने – मंगोलों आक्रमणों का सामना किया।
👉🏻 अलाउद्दीन खिलजी का दक्षिण के राज्यों पर आक्रमण का मुख्य उद्देष्य था – धन प्राप्त करना
👉🏻 किस सुल्तान की उपाधि द्वितीय सिकन्दर थी – अलाउद्दीन खिलजी (मूल नाम – अली गुरस्साप)
👉🏻 अलाउद्दीन खिलजी – विष्व विजेता बनना चाहता था और एक नवीन धर्म चलाना चाहता था।
👉🏻 किस सुल्तान के समय सर्वाधिक मंगोल आक्रमण हुए – अलाउद्दीन खिलजी
👉🏻 अलाउद्दीन खिलजी के सेनापति – अल्प खाॅं, उलगू खाॅं, नुसरत खाॅं और जफर खाॅ (इसे युग का हीरो कहा जाता था और मंगोलों के विरूद्ध लड़ते हुए मारा गया।)
👉🏻 तैमूर ने 1398 में तुगलग वंष के किस सुल्तान के शासनकाल में भारत पर आक्रमण किया था – नासिरूद्दीन महमूद के
👉🏻 दीवान-ए-आरिज नामक विभाग का सृजन किया – बलबन ने
👉🏻 पीर मुहम्मद था – तैमूर का पौता
👉🏻 गोरी की विजय से पूर्व मुसलमान शासक थे – सिंध में
👉🏻 ‘प्रत्येक अवस्था में मृत्यु उसका वरण (बालिका का) करने को प्रस्तुत है, उषाकाल में पोस्त के माध्यम से, पकी हुई आयु में अग्निज्वाला के माध्यम से।’ राजपूत महिलाओं के बारे में यह कथन है – कर्नल जेम्स टाॅड का
👉🏻 कौनसा एक नगर मध्यकाल में दक्षिण भारत में धातु-जड़ाई कला के लिए प्रसिऋ था – तंजोर
👉🏻 वारंगल का स्वतन्त्र राज्य 15 वीं शताब्दी के आरम्भ में किसके द्वारा अधिग्रहण के फलस्वरूप समाप्त हो गया – अहमदषाह
👉🏻 अलाउद्दीन खिलजी की विजय में मुख्य योगदान किस सेनापति का था – मलिक काफूर का
👉🏻 किस भवन में चतुष्केन्द्रीय मेहराब (ट्यूडर मेहराब) का एक प्रमुख वास्तु तत्व के रूप में प्रयोग किया गया है – कुव्वतुल इस्लाम मस्जिद
👉🏻 अमीर खुसरो द्वारा प्रारम्भ की गई संगीत पद्धतियाॅं – ख्याल, कौल और तराना
👉🏻 ‘‘अपधर्मी को अपधर्म, परम्परावादी को धर्म, किन्तु इत्र विक्रेता के हृदय को गुलाब पंखुड़ी का पराग प्रिय होता है।’’ यह पंक्ति है – अमीर खुसरो की

प्रतियोगी परीक्षा में पास होने के लिए: – हमारे द्वारा उपलब्ध करवाए गए नोट्स का पूरी तरह से अध्ययन करें और प्रश्नों को हल करें।

प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए Mission Govt Exam के नोट्स क्यों चुनें?

  • सर्वश्रेष्ठ शिक्षकों के द्वारा लिखित नोट्स
  • आपको महत्वपूर्ण जानकारी चिह्नित मिल जाएगी।
  • फोकस्ड स्टडी मटेरियल, इसका अध्ययन करने से आपका समय बचता है एवं कोई अतिरिक्त पढ़ने की जरूरत नही पड़ेगी।

 नोट्स की गुणवत्ता :-

  • नोट्स का नवीनतम संस्करण।
  • एक साफ और सरल पठनीय लिखावट में लिखे गये हैै।
  • पृष्ठ संख्याओं के साथ अनुक्रमित किया गया है ताकि हर टॉपिक आसानी से मिल जाए।
  • लागत को बचाता है क्योंकि यह कम कीमत पर उपलब्ध है
  • टॉपिक वाइज नोट्स
History Topic Wise Notes & Important Questions

Leave a Comment

error: Content is protected !!